scorecardresearch

पीएम मोदी ने मंत्रियों को चेताया- दो साल बचे हैं, डिलीवरी और केवल डिलीवरी पर दीजिए ध्यान

पीएम ने बीते एक बैठक के दौरान मंत्रियों से अपने विभागों की कार्यक्षमता बढ़ाने और योजनाओं का गरीबों तक लाभ पहुंचाने के सख्त निर्देश दिए थे।

Modi Government, Advertisements, Modi Government Spent, Modi Government Spent on Advertisements, 3755 Crores Rupees, 3755 Crores Rupees on Advertisements, RTI, Three and A Half Year of Tenure, National News
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो-पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी मंत्रालयों को सख्त हिदायत दी है। केंद्र सरकार के कार्यकाल को तीन साल बीत चुके हैं इसी के मद्देनजर उन्होंने अपने मंत्रियों को चेताया है। पीएम ने सभी मंत्रियों से केंद्र सरकार की सभी योजनाओं को सही तरीके से लागू कराने पर ध्यान देने को कहा है। साथ ही उन्होंने यह सुनिश्चित करने की भी हिदायत दी है कि कोई भी सरकारी कर्मचारी सरकारी का कॉर्पोरेट के फायदे न ले। इकनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक पीएम ने बीते बुद्धवार को एक बैठक में मंत्रियों से अपने विभागों की कार्यक्षमता बढ़ाने और योजनाओं का गरीबों तक लाभ पहुंचाने के सख्त निर्देश दिए थे।

खबर के अनुसार एक अधिकारी ने बताया, “अब अगले चुनाव के लिए सिर्फ 2 साल बचे हैं। जातीय समीकरणों या गठजोड़ की राजनीति से ज्यादा जरूरी है कि सरकार कार्यक्षमता पर ध्यान दे और सिर्फ नतीजे दे। पीएम यह बात सभी मंत्रियों को समझा रहे हैं। सभी मंत्री काम को बखूबी निभा रहे हैं, लेकिन आखिरी शख्स(गरीबों) तक लाभ पहुंचाना जरूरी है। पीएम ने सभी को संपर्क साधने के बेहतर से बेहतर उपाय अपनाने को कहा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सरकारी योजनाओं का लाभ देश के हर शख्स को मिल सके।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते दिनों मंत्रियों और उनके स्टाफ के पीएसयू द्वारा कैब, चर्टार विमान और होटलों का इस्तेमाल किए जाने को लेकर एक रिपोर्ट पीएम को भेजी गई थी। इसके बाद ही पीएम ने सभी मंत्रियों को पीएसयू के लाभ होटलों और अन्य सुविधाओं के लिए लेने से सख्त मना किया है। बता दें दो महीने पहले एक बैठक में पीएम मोदी ने सभी मंत्रियों को अपनी आधिकारिक यात्रा के दौरान, किसी पांच सितारा होटल के बजाए सरकारी गेस्ट हाउस या सर्किट हाउस में ठहरने की हिदायत दी थी। इसके अलावा पीएम ने स्टाफ सदस्यों और उनरे परिवारों द्वारा पीएसयू के वाहनों का इस्तेमाल करने की रिपोर्ट्स पर भी नाराजगी जाहिर की थी। वहीं बीते महीने उन्होंने सांसदों को संसद में अपनी हाजिरी बढ़ाने पर ध्यान देने को भी कहा था।

पढें Uncategorized (Uncategorized News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट