ताज़ा खबर
 

जरूरी जानकारी : उत्तर प्रदेश में 15,508 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू

देश के 23 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आइआइटी) और अन्य इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए परीक्षा आयोजित कराने वाले संयुक्त प्रवेश बोर्ड ने निर्णय लिया है कि जेईई मुख्य परीक्षा अब और ज्यादा क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित की जाएगी।

उत्‍तर प्रदेश माघ्‍यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड। फाइल फोटो।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, इलाहाबाद ने 15,508 शिक्षकों की भर्ती के लिए एक अधिसूचना जारी की है। अधिसूचना में प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी) और स्नातकोत्तर शिक्षक (पीजीटी) के रिक्त पदों के लिए उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। इन पदों पर भर्ती के लिए फॉर्म जमा करने की अंतिम तारीख 30 नवंबर है। आधिकारिक अधिसूचना के मुताबिक, शिक्षक भर्ती 2020 के माध्यम से कुल 15,508 रिक्त पदों को भरा जाएगा। इनमें 12913 टीजीटी और 2595 पीजीटी पद शामिल हैं।

इन पदों के लिए आवेदन फीस जमा करने की अंतिम तारीख 27 नवंबर 2020 है। टीजीटी पदों के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए और बीएड की डिग्री होनी चाहिए. पीजीटी पदों के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के पास मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / संस्थान से बीएड के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।

साठ फीसद विद्यार्थियों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध

शिक्षा की वार्षिक स्थिति रिपोर्ट (असर), 2020 में कहा गया है कि कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद होने के दौरान तीन-चौथाई बच्चों को आॅनलाइन पढ़ाई में परिवार के सदस्यों से किसी प्रकार से मदद मिली रही है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि पंजीकृत विद्यार्थियों में से 60 फीसद से अधिक ऐसे परिवारों से आते हैं, जिनके पास कम से कम एक स्मार्टफोन है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पंजीकृत बच्चों के बीच बीते दो साल में यह अनुपात 36.5 फीसद से काफी तेजी से बढ़कर 61.8 फीसद हो गया है। सरकारी और निजी दोनों तरह के स्कूलों में पंजीकृत विद्यार्थियों के परिवारों में फीसद के मामले में समान वृद्धि हुई है।

रिपोर्ट के अनुसार वे राज्य जहां स्मार्टफोन धारक परिवारों वाले बच्चों के अनुपात में 30 फीसद से अधिक की वृद्धि हुई है, उनमें महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और त्रिपुरा शामिल हैं।

यह अध्ययन 26 राज्यों और चार केन्द्रशासित प्रदेशों में किया गया था। इस दौरान 52,227 परिवारों और पांच से 16 साल के आयुवर्ग के 59,251 बच्चों तथा प्राथमिक स्तर की शिक्षा प्रदान कर रहे 8,963 सरकारी स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाचार्यों से संपर्क किया गया था।

अधिक भाषाओं में आयोजित होगी जेईई मुख्य

देश के 23 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आइआइटी) और अन्य इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए परीक्षा आयोजित कराने वाले संयुक्त प्रवेश बोर्ड ने निर्णय लिया है कि जेईई मुख्य परीक्षा अब और ज्यादा क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा क्षेत्रीय भाषाओं में भी आयोजित की जाएगी, जहां राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन, परीक्षा (क्षेत्रीय भाषा में आयोजित) के आधार पर तय किया जाता है। वर्तमान में जेईई मुख्य परीक्षा अंग्रेजी, हिंदी और गुजरती भाषा में आयोजित की जाती है. लेकिन अब अगले साल से यह परीक्षा और अधिक क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित होगी। वहीं, राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा 11 भाषाओं में आयोजित की जाती है।

दिल्ली के कॉलेजों में 1330 सीटें बढ़ीं

दिल्ली सरकार द्वारा संचालित आइपी विश्वविद्यालय से जुड़े कॉलेजों में इस वर्ष से 1330 नई सीटें जोड़ी गई हैं। यह पांच-छह नए कॉलेज खोलने के बराबर है। इससे दिल्ली के स्कूलों से पढ़कर निकले उन विद्यार्थियों को लाभ होगा जिन्हें उच्च शिक्षा के बेहतर अवसरों की तलाश है। ये अतिरिक्त सीटें गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय के कॉलेजों में उपलब्ध होंगी। इससे दिल्ली के बच्चों को उच्च शिक्षा के नए अवसर मिलेंगे।

सीबीएसई के फॉर्म 11 नवंबर तक भरे जाएंगे

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (उइरए) ने कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं के प्राइवेट छात्रों के लिए सीबीएसई परीक्षा 2021 के लिए पंजीकरण फॉर्म जारी कर दिए हैं। 10वीं और 12वीं के छात्रों को सीबीएसई परीक्षा फॉर्म 2021 को 11 नवंबर 2020 तक भरकर जमा करना होगा। इसके बाद विलंब शुल्क का भुगतान करना होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अब अर्णब गोस्वामी ने मुंबई पुलिस के ख़िलाफ़ खोला मोर्चा, परमबीर सिंह को दिया नया नाम
2 डायरेक्टर ने कहा था मैं तुम्हारे मुंह पर फार्ट करना चाहता हूं- रुबीना दिलैक ने सुनाई आपबीती
3 महिलाएं अगर अपनी इच्छा जाहिर कर दें तो उन्हें इजिली अवेलेबल मान लिया जाता है – बोलीं थीं ‘गंदी बात’ फेम एक्ट्रेस अन्वेषी जैन
यह पढ़ा क्या?
X