ताज़ा खबर
 

क्या आपको भी कई दिन से है खांसी-जुकाम? जानिये- कोरोना वायरस में कितने दिन बाद शुरू होती है सांस की दिक्कत

Coronavirus Symptoms: कोरोना वायरस के लक्षण दिखने में समय लगता है जिस वजह से लोग बाहर से बीमार नहीं लगते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो लक्षण से पहले ही संक्रमण दूसरे लोगों में फैल जाता है।

जरूरी नहीं है कि कोरोना वायरस के सभी मरीजों में लक्षण दिखें लेकिन ज्यादातर मामलों में लक्षण 2 से 10 दिनों के भीतर आते हैं

Coronavirus Symptoms: कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। दुनिया भर में अब तक साढ़े 8 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार ये वायरस नॉर्मल फ्लू के मुकाबले 3 गुना अधिक तेजी से लोगों में फैल रहा है। इस वायरस को पहचानना ज्यादा मुश्किल इसलिए है क्योंकि इसके लक्षण जल्दी पकड़ में नहीं आते। चीन ने हाल में ही ये खुलासा किया है कि ये जरूरी नहीं है कि कोरोना वायरस पॉजिटिव सभी मरीजों में तुरंत ही लक्षण दिखें। इस वजह से ये वायरस ज्यादा चुनौतीपूर्ण हो गया है। ऐसे में आइए जानते हैं ‘आज तक’ की इस रिपोर्ट से कि कोरोना वायरस के लक्षणों को सामने आने में कितना समय लगता है।

बुखार है इस वायरस का सबसे आम लक्षण: कोरोना वायरस से पीड़ित ज्यादातर लोगों को पहले दिन से ही तेज बुखार चढ़ने लगता है और शरीर का तापमान काफी बढ़ जाता है। इसके अलावा, इस वायरस के शुरुआती लक्षणों में सूखी खांसी और जुकाम की समस्या भी शामिल हैं। कुछ दिनों के अंदर ही मरीज मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द से परेशान हो जाता है। वहीं, कई मामलों गले में सूजन भी देखा गया है।

इस दिन से सांस लेने में होने लगती है तकलीफ: पांचवां दिन आते-आते लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगती है। अभी तक इस समस्या का सबसे अधिक सामना बुजुर्गों को करना पड़ा है। इसके अलावा, वो लोग जो पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त थें उन्हें भी 5 दिनों में सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। जैसे-जैसे समय बीतने लगता है कोरोना वायरस से पॉजिटिव लोगों को इस बात का एहसास होने लगता है कि उन्हें डॉक्टर को दिखाने की जरूरत है। वुहान हॉस्पिटल की एक रिपोर्ट के अनुसार ज्यादातर मरीजों ने इतने दिन बीतने के बाद ही डॉक्टर्स को अपनी स्थिति के बारे में बताया।

फेफड़ों में बढ़ने लगता है बलगम: करीब 1 हफ्ता बीत जाने के बाद इस वायरस से पीड़ित मरीजों को रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ये एक ऐसी कंडीशन है जिसमें इंसान के फेफड़ों में तेजी से बलगम (म्यूकस) बढ़ने लगता है। ये बलगम फेफड़ों को ब्लॉक कर देते हैं जिससे मरीजों को सांस लेने में परेशानी होने लगती है और उनके सीने में भी दर्द उठ जाता है। कुल मिलाकर, इस वायरस के लक्षण दिखने में 2 से 10 दिनों का समय लग जाता है।

Next Stories
1 My Secret Terrius वेब सीरीज में 2 साल पहले ही दिखी थी कोरोना वायरस की साज़िश, अब वायरल हो रहा है खौफनाक वीडियो
2 Grofers, Swiggy, बिग बास्केट, फ्लिपकार्ट और अमेजॉन ने शुरू की ऑनलाइन डिलिवरी, लॉकडाउन में सीधे घर पहुंचेगा जरूरी सामान
3 Chankya Neeti : महामारी से बचने के लिए चाणक्य की ये बातें बांध लें गांठ, मुश्किलों से बचे रहेंगे
ये पढ़ा क्या?
X