ताज़ा खबर
 

Chankya Neeti : महामारी से बचने के लिए चाणक्य की ये बातें बांध लें गांठ, मुश्किलों से बचे रहेंगे

Chanakya Neeti: आचार्य चाणक्य की गिनती श्रेष्ठ विद्वानों में होती है, उन्होंने महामारी से बचने के उपाय चाणक्य नीति में बताए हैं।

महामारी से बचने के लिए आचार्य चाणक्य ने सुझाए हैं ये उपाय

Chanakya Neeti: दुनिया भर में कोरोना वायरस ने तहलका मचाया हुआ है। इस वायरस से अब तक 10 हजार से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन भी इसे वैश्विक महामारी घोषित कर चुकी है। महामारी बेहद खतरनाक होता है जिससे पूरी मानव सभ्यता को खतरा होता है। ऐसे में इससे बचने के लिए हर संभव उपाय करना चाहिए। श्रेष्ठ विद्वानों में से एक आचार्य चाणक्य ने महामारी को फैलने से रोकने और लोगों को इसके बुरे प्रभाव से बचाने के लिए कई बातें कही हैं। उनके अनुसार, ऐसे समय में लोगों को धैर्य और सजगता से काम लेना चाहिए।

आचार्य चाणक्य की गिनती श्रेष्ठ विद्वानों में की जाती है। चाणक्य कौटिल्य के नाम से भी प्रसिद्ध हैं। चंद्रगुप्त मौर्य को शिक्षा-दीक्षा देने वाले आचार्य चाणक्य ने अर्थशास्त्र की रचना भी की थी। योग्य राजनीतिज्ञ चाणक्य ने समाज को प्रभावित करने वाले कई तत्वों पर अपने विचार रखे हैं जिन्हें चाणक्य नीति के नाम से जाना जाता है। इसी चाणक्य नीति में आचार्य ने महामारी को फैलने से कैसे रोका जाए ये भी बताया है।

जागरुक रहना है जरूरी: आचार्य चाणक्य के अनुसार महामारी से बचने के लिए लोगों को जागरुक और अलर्ट रहने की जरूरत है। डॉक्टर्स और स्वास्थ विशेषज्ञों द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करने से ही महामारी से बचाव संभव है। जितने भी तरीके डॉक्टर्स सुझाते हैं उन्हें अपनाने की सलाह देते हैं आचार्य चाणक्य। साथ ही साथ, महामारी को रोकने के लिए बताए गए सभी उपायों का पूरी ईमानदारी से पालन करना चाहिए। राजा (आज के समय में सरकार) द्वारा बताए गए नियमों पर अमल करना चाहिए।

पब्लिक गैदरिंग से बचें: महामारी के दौरान घर में रहने को आचार्य ने सबसे उचित बताया है। उनके अनुसार, एक दूसरे के संपर्क से महामारी फैलने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए जितना हो सके लोगों से दूरी बनाएं और जनसंपर्क तब तक न करें जब तक महामारी का प्रकोप कम न हो जाए। इसके अलावा, ऐसे समय में साफ-सफाई के प्रति भी विशेष ध्यान देना चाहिए। स्वच्छता को नजरअंदाज करने से बात बिगड़ सकती है।

अफवाहों पर न दें ध्यान: जब कोई महामारी फैलती है तो साथ में फैलते हैं अफवाह। चाणक्य के अनुसार, महामारी के बीच अफवाहें तेजी से फैलती हैं। इसलिए अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए और न ही अफवाह फैलाना चाहिए। अफवाहों से लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, अंधविश्वास से भी दूर रहना चाहिए नहीं तो कई पाखंडी आपको धोखा दे सकते हैं।

Next Stories
1 Coronavirus Outbreak: ITBP कांस्टेबल (ट्रेड्समैन) भर्ती 2020 स्थगित, 50,000 आवेदक प्रभावित, संक्रमित भारतीयों की संख्या 135 के पार
2 PM के न्यौते पर विरोध के बीच Coronavirus ने टाला नरेंद्र मोदी का बांग्लादेश दौरा, शेख हसीना बोलीं- फिलहाल नहीं करा सकते कार्यक्रम
3 तीन दिन बाद कोरोना वायरस का दूसरा मामला उजागर होने से हड़कंप, दोनों मरीज केरल से, प्रशासन अलर्ट
ये पढ़ा क्या?
X