ताज़ा खबर
 

पांच किसानों को क्‍यों मरवाया, आंदोलन को हवा देने वाले कांग्रेसियों को क्‍यों नहीं पकड़ा- गोलमोल जवाब देने पर एंकर ने संबित पात्रा को लताड़ा

पुलिस की फायरिंग में पांच किसानों की मौत के बाद भीड़ और ज्यादा उग्र हो गई।

वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट

मध्य प्रदेश में फसलों की उचित कीमत के लिए किसानों का आंदोलन और तेज हो चुका है। पुलिस की फायरिंग में पांच किसानों की मौत के बाद भीड़ और ज्यादा उग्र हो गई। बुधवार 7 जून को भीड़ ने किसानों से मुलाकात करने आए डीएम से मारपीट की। राज्य में किसानों के बिगड़ते हालात पर हिन्दी न्यूज चैनल जी न्यूज पर एक कार्यक्रम के दौरान बहस रखी गई थी। ‘ताल ठोक के’ नाम के इस कार्यक्रम का संचालन एंकर रोहित सरदाना करते हैं।

शो के दौरान एक पल ऐसा आया जब एंकर रोहित सरदाना 5 किसानों की मौत को लेकर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा पर भड़क उठे। उन्होंने एक के बाद एक कई सवाल दागे जिससे संबित पात्रा को कुछ समय के लिए चुप्पी साधनी पड़ गई। दरअसल बहस के दौरान संबित पात्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश को पांच बार कृषि के लिए अवॉर्ड मिल चुका है। इस पर रोहित सरदाना बोले, “इन अवॉर्ड्स पर पांच किसानों का खून लगा है। पांच किसानों को गोली मारने के बाद आप अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। अगर आपने कृषि में इतना अच्छा काम किया था तो फिर राज्य का किसान सड़क पर क्यों बैठा है।” संबित पात्रा ने कहा वह आंकड़ों के साथ बात करना चाहते हैं। इसपर रोहित सरदाना ने कहा “आंकड़े पहले से टीवी पर चल रहे हैं। आप सिर्फ ये बताएं कि आपने गोली क्यों चलवाई? आपने किसानों को क्यों मरवाया।”

सरदाना ने और कई सवाल दागते हुए पूछा कि आंदोलन के दौरान पांच लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया। क्या 35 फीसदी उत्पादन बढ़ गया जैसे आंकड़े पेश करने से आपके हाथ इस बात से धुल जाएंगे। आपके हाथ धुल जाएंगे कि आपका राज्य दूध उत्पादन में नंबर दो है।” इसके अलावा उन्होंने भाजपा के इस दावे पर भी निशाना साधा जिसमें यह कहा जा रहा था कि किसानों को भड़काने का काम कांग्रेस कर रही है। सरदाना ने पूछा, “आप मुझे ये बता दीजिए कि 24 घंटे में आपने कितने ऐसे लोग गिरफ्तार किए जिनको आप कह सकें कि ये कांग्रेस के नेता थे और आंदोलन में आग लगा रहे थे।”

बुधवार को इस कार्यक्रम का मुद्दा था “अन्नदाता को कीमत के बदले गोली क्यों?” शो में बहस के लिए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा को बुलाया गया था। इसके अलावा कांग्रेस प्रवक्ता अभय दुबे, मध्य प्रदेश के पूर्व डीजीपी एससी त्रिपाठी, किसान शक्ति संघ के अध्यक्ष चौधरी पुष्पेंद्र सिंह और वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता भी इस शो में मौजूद थे।

मंदसौर: DM पर फूटा किसानों का गुस्सा, शिवराज ने की मुआवजे की रकम 1 करोड़

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App