scorecardresearch

योगी आदित्यनाथ बोले – 2017 के बाद किसी भी नियुक्ति में नहीं हुआ कोई विवाद, लोग पूछने लगे ऐसे सवाल

शैलेंद्र सिंह नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि बाबा जी कौन सा पेपर लीक नहीं हुआ है। कभी आंखें खोलकर अखबार पढ़ लिया करिए… जूनियर एडिटर में धांधली.. दरोगा भर्ती में धांधली। बचा क्या है महाराज?

Uttar pradesh CM photo, Yogi Photo
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछली सरकारों में परिवारवाद के कारण सरकारी भर्तियों में घोटाले होते थे। इसके साथ उन्होंने दावा किया कि 2017 के बाद किसी भी नियुक्ति में कोई विवाद नहीं हुआ है। उनके इस दावे पर सोशल मीडिया यूजर्स कई प्रकार के सवाल पूछने लगे। कुछ यूजर्स तो हाल में हुई कई निरस्त परीक्षाओं के नोटिस को शेयर करते हुए तंज कसा।

दरअसल सीएम योगी ने कहा – 2017 के पहले हर नियुक्ति विवादित होती थी क्योंकि एक खानदान वसूली के लिए निकल पड़ता था। महाभारत के सभी रिश्ते सामने आ जाते थे, कहीं चाचा और कहीं भांजा वसूली करते रहते थे। प्रदेश के नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ होता था। इसके साथ उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आने के बाद साढ़े 4 नियुक्तियां हुईं लेकिन कोई विवाद नहीं हुआ।

उनके इस बयान पर अनुराग नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं कि डबल इंजन की उत्तर प्रदेश सरकार पीआरडी जवानों को नियमित व स्थाई रोजगार देने में विफल क्यों है? विनोद कुमार नाम के ट्विटर यूजर ने प्रयागराज के एक विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर हुई धांधली की खबर को शेयर करते हुए लिखा कि जरा कुछ तो शर्म कर लीजिए।

क्या सरकार चलाने ही नहीं आता? यूपी TET का पेपर लीक होने पर CM योगी पर भड़के पूर्व IAS, सपा नेता ने लगवा दिये बैनर

सूरज मौर्य नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं कि माननीय मुख्यमंत्री जी आपसे निवेदन है कि 69000 शिक्षक भर्ती में तीसरी लिस्ट के बाद भी बहुत सारे पद खाली है। इन सभी पदों के लिए चौथी सूची जारी कब जारी करेंगे? आशुतोष तिवारी नाम के ट्विटर हैंडल से लिखा गया कि आप सही कह रहे हैं, अब युवाओं के साथ खिलवाड़ नहीं हो रहा क्योंकि युवा तो अब दर्शक बनकर बैठे हैं। खिलवाड़ तो बीजेपी के साथ हो रहा है क्योंकि यूपी के अधिकारी खेल रहे हैं। भर्ती में हो रही गड़बड़ी की जानकारी तो आप तक पहुंच ही नहीं पा रही है।

शैलेंद्र सिंह नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि बाबा जी कौन सा पेपर लीक नहीं हुआ है। कभी आंखें खोलकर अखबार पढ़ लिया करिए… जूनियर एडिटर में धांधली.. दरोगा भर्ती में धांधली। बचा क्या है महाराज? नीरज सिंह लिखते हैं कि जरा बताइए कौन सी परीक्षा बिना धांधली के संपन्न हो पाई है। हाल में ही हुई यूपी टेट की परीक्षा पर ही ध्यान दे लेते। जानकारी के लिए बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ यूपी में होने वाले अगले विधानसभा चुनाव को लेकर जोरदार तैयारी करते नजर आ रहे हैं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट