ताज़ा खबर
 

बाबा रामदेव ने क‍िया मोदी सरकार को लेकर ट्वीट, हमलावर हो गए लोग

रविवार (तीन जून) को स्वामी रामदेव ने एक ट्वीट किया था। उन्होंने पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को टैग करते हुए लिखा, "श्री अमित शाह 'समर्थन के लिए संपर्क' मुहिम के तहत नई दिल्ली स्थित पतंजलि आश्रम आए। मेरे लिए नरेंद्र मोदी सरकार की ये चार उपलब्धियां हैं।"

स्वामी रामदेव ने ट्वीट में अपने मुताबिक मोदी सरकार की चार उपलब्धियां गिनाई हैं। (फोटोः फेसबुक)

योग गुरु बाबा रामदेव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को लेकर ट्वीट किया। उन्होंने सरकार की कुछ उपलब्धियां गिनाई थीं, जिनके कारण वह ट्रोल्स के निशाने पर आ गए। सोशल मीडिया यूजर्स इसी को लेकर न केवल उन पर हमलावर नजर आए, बल्कि लोगों ने बीजेपी सरकार की भी आलोचना की। लोगों का कहना था कि आप (रामदेव) जब स्वदेशी की बात करते हैं, तो टि्वटर क्यों चलातें हैं? यह तो अमेरिकी है। एक अन्य शख्स ने पूछा कि बाबा जी, लोकपाल-काला धन को खोजने कब रामलीला मैदान आ रहे हैं? या फिर बीजेपी की गंगा में समाहित होकर ये सारे मुद्दे पावन हो गए?

रविवार (तीन जून) को पतंजलि आर्युवेद लिमिटेड के मालिकान ने एक ट्वीट किया था। उन्होंने पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को टैग करते हुए लिखा, “श्री अमित शाह ‘समर्थन के लिए संपर्क’ मुहिम के तहत नई दिल्ली स्थित पतंजलि आश्रम आए। मेरे लिए नरेंद्र मोदी सरकार की ये चार उपलब्धियां हैं। 1-योग को पूरी दुनिया में प्रतिष्ठा। 2-पूरे देश में सड़कों का जाल। 3-एक देश, एक टैक्स। 4-16 हजार गांवों में मूलभूत सुविधा।” रामदेव ने इस ट्वीट के साथ शाह व दो अन्य मेहमानों संग अपना फोटो भी अपलोड किया था।

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Micromax Vdeo 2 4G
    ₹ 4650 MRP ₹ 5499 -15%
    ₹465 Cashback

स्वामी रामदेव के मोदी सरकार की इन चार उपलब्धियां गिनाने के बाद लोगों ने इस पर उन्हें उचित जवाब दिया। देखिए लोगों की प्रतिक्रियाएं

आपको बता दें कि रामदेव और बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष की मुलाकात पार्टी के महासंपर्क अभियान के तहत हुई थी। रामदेव ने उस दौरान यह भी कहा था कि केंद्र सरकार ने आर्थिक दिशा में सुधार के लिए काफी काम किया है। पीएम ने संकट की स्थिति में देश को रास्ता दिखाया। शाह इस अभियान के अंतर्गत तकरीबन 50 शख्सियतों से मुलाकात करेंगे। शाह ने इस अभियान की शुरुआत 29 मई को की थी, तब वह पूर्व सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग से मिले थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App