ताज़ा खबर
 

World Wide Web Google Doodle: किसने बनाया WWW? यहां जानें सब कुछ

World Wide Web Google Doodle: टिम बर्नर्स-ली ने शुरू में 'मेश' नाम का 'हाइपरटेक्‍स्‍ट डेटासबेस' बनाया था ताकि CERN में अपने सहयोगियों की विभिन्‍न कंप्‍यूटर्स के बीच जानकारी साझा करने में मदद कर सकें। बाद में इसी को विकसित पर WWW का स्‍वरूप दिया गया।

World Wide Web Google Doodle: गूगल ने बनाया यह खूबसूरत (Photo : Google Homepage Screenshot)

World Wide Web Google Doodle: वर्ल्‍ड वाइड वेब (WWW) 12 मार्च, 2019 को अपना 30वां जन्‍मदिन मना रहा है। 1989 में आज ही के दिन, यूरोपीय शोध एजंसी CERN में टिम बर्नर्स-ली ने WWW बनाने का प्रस्‍ताव दिया था। उनकी योजना थी कि इंटरनेट बेस्‍ड हाइपरटेक्‍स्‍ट सिस्‍टम के जरिए सूचना को विभिन्‍न कंप्‍यूटर्स पर लिंक और एक्‍सेस करने लायक बनाया जाए। ली के साथ इस प्रोजेक्‍ट पर CERN के ही रॉबर्ट कैलिलियु ने भी काम किया था। अगर आप दुनिया की सबसे पहले वेबसाइट पर जाना चाहते हैं तो https://info.cern.ch/hypertext/WWW/TheProject.html पर विजिट करें। यहां आपको शुरुआती स्‍तर का वेबपेज दिखेगा।

टिम ने CERN में ही पहला वेब सर्वर, ब्राउजर और एडिटर (वर्ल्‍डवाइडवेब) बनाया। 30 अप्रैल, 1993 को CERN ने WWW को सार्वजनिक किया। नवंबर 1993 में लॉन्‍च किए गए Mosaic ब्राउजर के आने के बाद वेब की दुनिया ही बदल गई। आज अरबों लोग इंटरनेट का इस्‍तेमाल करते हैं। 21वीं शताब्‍दी के पहले दशक में ही वायरलेस इंटरनेट की नींव पड़ी और सूचना क्रांति का एक नया दौर शुरू हुआ।

Live Blog

Highlights

    22:01 (IST)12 Mar 2019
    कुछ रोचक जानकारियां

    वर्ल्ड वाइड वेब (WWW), जिसे आमतौर पर वेब के रूप में जाना जाता है, एक ऐसा सूचना स्थल है जहां दस्तावेजों और अन्य वेब संसाधनों की पहचान एकरूपता के साथ की जा सकती है। विकिपीडिया के अनुसार वर्ल्ड वाइड वेब में दस्तावेजों और अन्य वेब संसाधनों को यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर द्वारा पहचाना जाता है, जो हाइपरटेक्स्ट द्वारा इंटरलिंक किया जा सकता है और इंटरनेट के माध्यम से सुलभ है।

    21:34 (IST)12 Mar 2019
    जानिए कब लॉन्च हुआ Mosaic

    धीरे-धीरे इंटरनेट की चर्चा फैलने लगी और इसके बाद गूगल, अमेजन जैसी कंपनियों का जन्म हुआ। इंटरनेट की प्रसिद्धी के बाद Mosaic लॉन्च हुआ। ये पहला सर्च इंजन था जो तस्वीरों को एक्सेप्ट करता था। ये वेब इंडस्ट्री में बड़ा बदलाव था। हालांकि बाद में Mosaic को इंटरनेट एक्सप्लोरर, गूगल क्रोम और मोजिला फायरफॉक्स ने रिप्लेस कर दिया।

    21:09 (IST)12 Mar 2019
    ऑफिस के सिस्टम जोड़ने के लिए हुई शुरुआत

    शुरुआत में टिम एक ऐसे इंफॉर्मेशन सिस्टम को तैयार कर रहे थे जिससे लैब के विभिन्न कम्प्यूटर्स को एक दूसरे से जोड़ा जा सके। टिम का ये प्रपोजल उनके बॉस को पसंद आया। 1991 में पहली बार बाहरी वेब सर्वर पर रन कराया गया। पहली बार साल 1993 अप्रैल में वेब को पब्लिक किया गया।

    20:32 (IST)12 Mar 2019
    जानिए WWW के बारे में

    वर्ल्ड वाइड वेब यानी WWW वास्तव में इंटरनेट पर सभी संसाधनों और उपयोगकर्ताओं का संयोजन है जिसमें Hypertext Transfer Protocol (HTTP) का उपयोग किया जाता है। वर्ल्ड वाइड वेब कंसोर्टियम (W3C) ने इसकी एक व्यापक परिभाषा दी है- वर्ल्ड वाइड वेब नेटवर्क सुलभ जानकारी का ब्रह्मांड है, यह मानव ज्ञान का एक अवतार है।

    19:57 (IST)12 Mar 2019
    इंटरनेट बंद होने से होगा नुकसान

    इंटरनेट अगर एक दिन इंटरनेट बंद हो जाए तो क्या होगा? इसका जवाब है कि अगर एक दिन इंटरनेट बंद होता है तो दुनिया ठहर सी जाएगी। आज के समय में दुनिया का लगभग हर काम इंटरनेट से होता है। ऐसे में इंटरनेट के बंद से सारा काम ठप्प पड़ जाएगा।

    19:22 (IST)12 Mar 2019
    बढ़ रही है यूजर्स की तादाद

    इंटरनेट के जन्म के 6 सालों बाद भारत में इंटरनेट सेवा की शुरूआत हुई थी। यानि भारत में इंटरनेट 15 अगस्त, 1995 को आया। जिसकी शुरूआत विदेश संचार लिमिटेड ने की थी। एक अनुमान के मुताबिक, साल 2021 तक इंटरनेट यूजर्स की संख्या 82.9 करोड़ हो सकती है। यानि इंटरनेट यूजर्स की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है।

    18:51 (IST)12 Mar 2019
    कैसे काम करता है इंटरनेट?

    पहले इंटरनेट उपग्रह से चलता था लेकिन अब ऑप्टिकल फाइबर केबल्स से चलता है जिसे समुद्र में बिछाया जाता है। कई बार समुद्र में जहाज से केबल को नुकसान पहुंच जाता है। ऐसा 13 जनवरी 2008 को मिस्र में हुआ था जिसके कारण मिस्र का 70% इंटरनेट बंद हो गया था। ऐसी कई टीम बनाई गई है जो 24 घंटे समुद्र में ऑप्टिकल फाइबर केबल की निगरानी करती है। अगर कहीं नुकसान होता है तो यह टीमे उसको जल्द ठीक कर देती है। 90 इंटरनेट केबल के जरिये चलता है लेकिन 10% इंटरनेट उपग्रह से चलता है जिसका इस्तेमाल खुफिया एजेंसी करती हैं। इस इंटरनेट को आम लोग ऐक्सेस नहीं कर सकते हैं।

    18:31 (IST)12 Mar 2019
    यह थी पहली वेबसाइट

    वेब ब्राउजर को CERN के बाहर पहली बार 1991 में रिलीज किया गया था। जिसके बाद 6 अगस्त को इंटरनेट अस्तित्व में आया और दुनिया को पहले वेबसाइट http://info.cern.ch मिली। जिसे बाद इंटरनेट का दौर शुरू हुआ, कई वेब कंपनियां आई और आज इसका विस्तार बड़े पैमाने पर हो चुका है।

    17:42 (IST)12 Mar 2019
    भारत में कब आया इंटरनेट

    भारत में इंटरनेट 15 अगस्त, सन् 1995 में आया था। जिसकी शुरूआत विदेश संचार लिमिटेड ने की थी। हालांकि इसका जन्म 6 साल पहले यानी 1889 में हो चुकी थी।

    17:07 (IST)12 Mar 2019
    ऐसे समझें वर्ल्ड वाइड वेब को

    वर्ल्ड वाइड वेब क्या है, इसे समझने के लिए हम एक वेबपेज का उदाहरण ले सकते हैं। इस पेज में टेक्स्ट, फोटोज, विडियोज और बाकी मल्टीमीडिया आपको दिखता है। इन्हें आपस में जोड़ने के लिए हाइपरलिंक की मदद ली जाती है। इंटरनेट से इन फाइल्स को पाने का तरीका ही डबल्यूडबल्यूडबल्यू है क्योंकि यह सभी फाइल्स और पेजेस को आधार प्रदान करता है।

    16:45 (IST)12 Mar 2019
    पहले सर्न के अधिकार में था

    वर्ल्ड वाइड वेब को पहले सर्न ने अपने अधिकार में ही रखा था, लेकिन बाद में 1992 में इसे जारी कर दिया गया। अगले साल 1993 से पूरी दुनिया को इसका ऐक्सेस मिल गया।

    16:16 (IST)12 Mar 2019
    जानिए कौन हैं टिम बरर्नर्स ली

    शुरुआती पढ़ाई इंग्लैड में करने वाले टिम बर्नर्स ली हमेशा कुछ नया करने की चाह में रहते थे। उन्होने क्वींस कॉलेज और ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की और उसके बाद 1976 में उन्होने फिजिक्स में डिग्री हासिल की। गणित पर उनकी अच्छी पकड़ थी। पढ़ाई पूरी करने के बाद वो यूरोपीय नाभिकीय अनुसंधान संगठन से जुड़े और तभी उन्होने WWW की खोज की।

    15:59 (IST)12 Mar 2019
    जानिए हाइपरटेक्स्ट के बारे में

    सूचना प्रबंधन: एक प्रस्ताव' शीर्षक वाले दस्तावेज में टिम बरर्नर्स ली ने डॉक्यूमेंट्स को लिंक करने के लिए हाइपरटेक्स्ट के उपयोग की कल्पना की थी। www जिसे आमतौर पर वेब के रूप में जाना जाता है, एक सूचना स्थान है जहां डॉक्यूमेंट्स और अन्य वेब रिसोसेर्ज की पहचान यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर (यूआरएल) द्वारा की जाती है।

    15:43 (IST)12 Mar 2019
    इन्होंने किया था ईजाद

    टिम बरर्नर्स ली ने सन 1989 में WWW ईजाद किया था। तब वो जिनेवा के यूरोपीय नाभिकीय अनुसंधान संगठन में काम कर रहे थे। इसे सन् 1992 में जारी किया गया था।

    15:41 (IST)12 Mar 2019
    क्या है WWW?

    वर्ल्ड वाइड वेब को ही (WWW) कहा जाता है। एक वेब ब्राउजर की सहायता से हम उन वेब पन्नों को देख सकते हैं जिनमें टेक्स्ट, फोटो, वीडियो एवं अन्य मल्टीमीडिया शामिल होता है।

    Next Stories
    1 शख्‍स की टूटी-फूटी अंग्रेजी पर सुषमा स्‍वराज ने दिया ऐसा जवाब कि सब हो गए कायल
    2 VIDEO: टीवी डिबेट में मुस्लिम विद्वान ने कहा ‘मोदी के दलाल’ तो भड़की एंकर, शो से किया बाहर
    3 World Wide Web Birthday Google Doodle: वर्ल्‍ड वाइड वेब आखिर इंटरनेट से क्‍यों है अलग, जानिए