ताज़ा खबर
 

‘इन्हें पैसे दो और कुछ भी करवा लो’, जब NDTV के रवीश कुमार ने अमिताभ बच्चन को बताया था सदी का महानालायक

रवीश कुमार ने अमिताभ बच्चन पर तीखा हमला करते हुए लिखा था- शायद यही वो कलाकार है जिससे सिगरेट कंपनियां पैसे देकर बुलवा सकती हैं कि सिगरेट पीना स्वास्थ्य के लिए हितकारी है। अमिताभ बोल भी देंगे कि भई पैसे मिले हैं,हम कलाकार हैं और इस विज्ञापन को भी किरदार समझ कर कर दिया है।

Author Updated: August 7, 2020 8:40 AM
Ravish Kumar का अमिताभ बच्चन पर हमले वाला ब्लॉब फिर से एक बार वायरल हो रहा है। (Photo: Social media)

Ravish Kumar On Amitabh Bachchan: बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन कोरोना की चपेट में हैं। अमिताभ के साथ ही उनके परिवार में जया बच्चन को छोड़ अभिषेक बच्चन, ऐश्वर्या राय औऱ आराध्या सभी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। शनिवार (11 जुलाई) की रात जैसे ही ये खबर मीडिया में आई तो पूरे देश से बच्चन परिवार के लिए शुभकामनाएं आने लगीं। लोग बिग बी समेत उनके पूरे परिवार की सलामती की दुआ मांगने  लगे। इन सबके बीच रवीश कुमार का एक पुराना ब्लॉग भी वायरल होने लगा जिसमें उन्होंने अमिताभ बच्चन को ‘सदी का महानालायक’ बताय था।

एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार का ये ब्लॉग साल 2010 का है। ये ब्लॉग रवीश कुमार ने तब लिखा था जब अमिताभ बच्चन गुजरात के ब्रांड एंबेसडर बने थे और मीडिया में राज्य की वाहवाही करते दिख रहे थे। तब रवीश ने लिखा था- अमिताभ बच्चन पर्दे के बाहर भी कलाकार का ही जीवन जीते हैं। पैसा दो और कुछ भी करा लो। कांग्रेस में राजीव गांधी की डुग्गी बजाने के बाद छोटे भाई अमर सिंह के साथ सैफई तक जाकर नाच आए। मुलायम सरकार ने पैसे दिये तो गाने लगे यूपी में हैं दम क्योंकि जुर्म यहां है कम।

रवीश कुमार ने अमिताभ बच्चन पर तीखा हमला करते हुए लिखा था- शायद यही वो कलाकार है जिससे सिगरेट कंपनियां पैसे देकर बुलवा सकती हैं कि सिगरेट पीना स्वास्थ्य के लिए हितकारी है। अमिताभ बोल भी देंगे कि भई पैसे मिले हैं,हम कलाकार हैं और इस विज्ञापन को भी किरदार समझ कर कर दिया है। 

रवीश कुमार ने आगे लिखा था – अमिताभ अक्सर कहते हैं कि वे राजनीति से दूर हैं। लेकिन मुलायम सिंह यादव और अमर सिंह जैसे घाघ राजनेताओं की संगत में खूब जम कर रहे। अपनी पत्नी जया बच्चन को राज्य सभा में भेजा। अब जया भी अमर सिंह के साथ इस्तीफा नहीं दे रही हैं। दरअसल वे कभी सियासत की संगत से दूर ही नहीं रहे। कभी किसान बन कर ज़मीन लेने चले जाने का आरोप लगता है तो कभी ब्रांड दूत बन कर एक प्रदेश की जनता का सेवक होने का भाव जगाते हैं। अमिताभ इसीलिए एक मामूली कलाकार हैं। पर्दे पर मिली शोहरत की हर कीमत वसूल लेना चाहते होंगे। पर्दे पर पैसे की ताकत से लड़ने वाले किरदारों में ढल कर यह कलाकार महानायक बना लेकिन असली ज़िंदगी में पैसे की ताकत के आगे नतमस्तक होकर महानालायक लगता है।

 

Next Stories
1 ‘भाजपा के ठोक दो राज में अदालत की जरूरत ही नहीं है’, विकास दूबे एनकाउंटर पर ये बोल रहे लोग
2 ‘मंदिर की आड़ में विकास ज्यादा देर तक नहीं छिप सका’, विकास दुबे की ‘गिरफ्तारी’ पर सोशल मीडिया ने यूं कर रहा रिएक्ट
3 ‘कल कहां थे..चीन गए थे क्या?’, गौरव वल्लभ ने पूछा सवाल तो ‘टिकट’ दिखाते हुए बोले संबित पात्रा- बैंकॉक गया था
ये पढ़ा क्या?
X