ताज़ा खबर
 

जब बेटों की हरकत पर बुरी तरह भड़क गए थे धीरू भाई अंबानी, मुकेश और अनिल को दो दिनों के लिए गराज में कर दिया गया था बंद

Mukesh Ambani ने इस वाकये को याद करते हुए कहा कि, “उन दो दिनों में हमें अपने किए पर सच में पछतावा हुआ, और सबसे अच्छी बात ये हुई कि हम दोनों भाइयों के बीच का बंधन और मज़बूत हो गया। वो दो दिन मेरे लिए बहुत अहम है।”

मुकेश अंबानी औऱ अनिल अंबानी की फाइल फोटो। ( फोटो- सोशल मीडिया)

Mukesh Ambani Dhiru Bhai: मुकेश अंबानी अकसर चर्चा में रहते हैं। हाल ही में उनकी कंपनी रिलायंस (Reliance India Ltd.) ने फ्यूचर ग्रुप (Future Group) को खरीद लिया है। फ्यूचर ग्रुप का मशहूर बिग बजार अब अंबानी परिवार का हो चुका है। सफलता के नए मुकाम छूने वाले मुकेश अंबानी आज जहां है उसके पीछे वह अपने पिता को मानते हैं। ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल है जिसमें मुकेश बता रहे हैं कि कैसे उनके पिता ने बचपन से ही उन्हें बेहद अनुशासन में रखा। साल 2002 में मुकेश अंबानी ने एक्ट्रेस सिमी ग्रेवाल को एक इंटरव्यू दिया था। इस इंटरव्यू में मुकेश अंबानी ने बताया है कि कैसे उनकी गलती पर पिता धीरू भाई ने दो दिन तक गराज में बन्द कर दिया था और खाने में सिर्फ़ रोटी और पानी मिला था।

इंटरव्यू में सिम्मी गरेवाल मुकेश अंबानी से उनके बचपन के बारे में सवाल करती हैं कि वो अपने बचपन के किस बात को याद करना चाहेंगे। जवाब में मुकेश कहते हैं कि उन्होंने बचपन में अपने पिता के संघर्ष को क़रीब से देखा है। उनके पिता उन्हें कड़े अनुशासन में रखते थे । मुकेश अंबानी एक किस्सा बताते हुए कहते हैं , “एक शाम हमारे यहां कुछ मेहमान आए हुए थे। मैं 10 – 11साल का था और अनिल (Anil Ambani) 9 साल का। जैसा की और दूसरे बच्चे होते हैं हमने भी मिलकर खूब धमा – चौकड़ी मचाई। जब मेरी मां मेहमानों के लिए कुछ खाने को लेकर आई, इससे पहले कि मेहमान खाते हम दोनों ने मिलकर सब खा लिया। मेरे पिता हमें देखकर अंदर ही अंदर गुस्सा हो रहे थे, लेकिन फिर भी बोले बैठ जाओ । हमने पिता की बातों को अनसुना किया और मेहमान जहां बैठे थे वहीं एक सोफे से दूसरे सोफे पर कूदते रहे।”

मुकेश अंबानी ने बताया कि अगले दिन सुबह मेरे पिता धीरू भाई का गुस्सा सातवें आसमान पर था। उन्होंने हम दोनों को बुलाया आर बोले, “दोनों यहां से निकल जाओ, अगले दो दिनों तक तुम दोनों गराज में बंद रहोगे। जब तक तुम दोनों अच्छा बर्ताव करना नहीं सीख जाते, अपने किए पर तुम दोनों को पछतावा नहीं होता, तुम दोनों घर नहीं आओगे।”

मुकेश अंबानी बताते हैं कि मेरी मां ने उनसे विनती की, कहा कि ये अभी छोटे बच्चे हैं, लेकिन वो नहीं माने। हमने सच में दो दिन गराज में बिताए और सिर्फ़ रोटी ,पानी  दिया गया हमें खाने के लिए।

मुकेश अंबानी ने इस वाकये को याद करते हुए कहा कि, “उन दो दिनों में हमें अपने किए पर सच में पछतावा हुआ, और सबसे अच्छी बात ये हुई कि हम दोनों भाइयों के बीच का बंधन और मज़बूत हो गया। वो दो दिन मेरे लिए बहुत अहम है।” सिमी ग्रेवाल इसपर हंसते हुए कहती हैं, “और आप – दोनों ने दोबारा वैसी गलती नहीं की।” मुकेश कहते हैं , “नहीं ! उसके बाद कभी दोबारा हमने वैसा कुछ नहीं किया।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘आप खुले बालों में बहुत सेक्सी लगते हैं..’, जब बाबा रामदेव को ऐसे देख बोल पड़ी थी महिला
2 ‘कोई बड़ा ऐलान नहीं है नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी’, रवीश कुमार ने दी राय तो लोग भी गिनाने लगे समस्‍याएं
3 ‘तुम्हारे जैसे लोग ही मेरे पीछे लगे हैं..’, ये कहते हुए राजदीप सरदेसाई के शो से बाहर निकल गए सुशांत सिंह राजपूत केस के वकील
ये पढ़ा क्या?
X