एंकर ने SP को लेकर असदुद्दीन ओवैसी से पूछा सवाल तो AIMIM प्रमुख बोले – अखिलेश यादव के नेताओं के पेट में क्यों हो रहा है दर्द, बैठकर बिरयानी खाएं

यूपी विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी का दांव आजमा रहे AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी सत्ता पर काबिज़ योगी आदित्यनाथ सरकार के साथ ही सपा और बसपा पर बोल रहे हैं।

Uttar Pradesh, Mulayam
AIMIM chief Asaduddin Owaisi (Photo Source – PTI)

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी उत्तर प्रदेश की जनता के बीच अपनी जगह बनाने में लगे हुए हैं। योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए वह कह रहे हैं कि यूपी की जनता में बीजेपी के खिलाफ काफी आक्रोश है। उन्होंने एक लाइव शो के दौरान एंकर के सपा को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि अखिलेश यादव के नेताओं के पेट में दर्द क्यों हो रहा है, बैठकर बिरयानी खाएं।

हाल में ही इंडिया टीवी न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी के माहौल पर कहा कि मेरा देखना है कि उत्तर प्रदेश की जनता में योगी सरकार के खिलाफ बहुत बड़ा आक्रोश है और मुझे उम्मीद है कि दोबारा यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार नहीं बनेगी।

एंकर ने उनसे सवाल पूछा कि आज समाजवादी पार्टी के कई नेताओं ने कहा कि आपके यूपी में 100 सीटों पर चुनाव लड़ने से बिहार जैसा यहां पर आपको रिस्पांस नहीं मिलेगा। इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि परेशान क्यों हो रहे हैं उनके पेट में दर्द क्यों हो रहा है? जब हमें नहीं मिल रहा है तो छोड़ दीजिए। इस बात पर हमारा जिक्र क्यों किया जा रहा है..आप जाइए बिरयानी खाएं, कबाब खाएं.. जो खाते हैं वह खाइए।

उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि मिठाई खाएं… पटाखे फोड़े। उनके पेट में इतना दर्द क्यों हो रहा है? एंकर ने उनसे पूछा आप मंच से बोलते हैं तो उनको जवाब देना पड़ता है। अब आप अखिलेश यादव को चैलेंज देंगे कि मुझसे बहस कीजिए। अखिलेश यादव और बाकी पार्टियों को आप जिम्मेदार बताएंगे और कहेंगे कि इन्होंने मुसलमानों को धोखा दिया है? उनके सवाल पर ओवैसी बोले, यूपी की जनता देख रही है कि बिहार में क्या हुआ है।

उन्होंने अखिलेश यादव और मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा और बसपा ने एक साथ चुनाव लड़ा था तो क्या कर लिया? मैं नहीं था तब भी तो आप बीजेपी को नहीं रोक पाए। उन्होंने कहा कि मिलकर चुनाव लड़ने के बावजूद लोकसभा चुनाव 2019 में केवल 15 सीख ले आप आए थे और जिसमें से कांग्रेस अपनी एक खानदानी सीट जीत कर लाई थी।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट