ताज़ा खबर
 

VIDEO: कुलभूषण जाधव की फांसी रुकने से पाक ‘हसीनाएं’ नाखुश, दिए ऐसे-ऐसे जवाब

ट्विटर पर शेयर किया गया यह वीडियो समा टीवी (Samaa tv) का है। जिसमें फैशन इंडस्ट्री से जुड़ी कुछ मॉडल्स से जाधव मामले पर उनकी राय ली गई है।

भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव (File Photo)

जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा भारतीय नागरिक और इंडियन नेवी के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा दी गई थी, जिस पर इंटरनेशनल कोर्ट (ICJ) ने रोक लगा दी है। जाधव की फांसी पर रोक लगने के कारण भारत में खुशी का माहौल है। पूरे देश भर में कई जगहों पर लोगों ने मिठाई बांटी और जश्न भी मनाया। फांसी पर रोक लगने के बाद अब देश की जनता जल्द से जल्द से जाधव की रिहाई चाहती है। वहीं, जाधव की फांसी को लेकर पाकिस्तान में लोगों का क्या कहना है? इस बारे में जानने के लिए एक वीडियो सामने आया है। सोशल मीडिया पर शेयर किए गए पाकिस्तान के एक टीवी चैनल के वीडियो में जाधव की फांसी को लेकर वहां के लोगों ने प्रतिक्रिया दी है।

ट्विटर पर शेयर किया गया यह वीडियो समा टीवी (Samaa tv) का है। जिसमें फैशन इंडस्ट्री से जुड़ी कुछ मॉडल्स से जाधव मामले पर उनकी राय ली गई है। एक मॉडल ने कहा, “जब हमारे लोगों को भारत में फांसी दी जाती है तो कौन आता है बताइए, तब कोई नहीं आता है, डॉक्टर आफिया के लिए कोई क्यों कोर्ट नहीं जाता है।” दूसरी मॉडल ने जाधव की फांसी पर विचार रखते हुए कहा कि वो हमारा मुजरिम है तो उसे हमारी अदालत में सजा मिलनी चाहिए। तीसरी मॉडल ने कहा कि जाधव को सजा देनी चाहिए और उसे छोड़ना चाहिए। चौथी मॉडल ने कहा कि अगर जाधव ने वाकई गलत किया तो उसे सजा मिलनी चाहिए, इसमें पाकिस्तान और भारत वाली कोई बात नहीं होनी चाहिए।

बीते दिनों अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने भारत की अर्जी पर सुनवाई करते हुए जाधव की फांसी को रोक लगा दिया था और माना कि पाकिस्तान द्वारा जाधव को राजनयिक मदद दी जानी चाहिए थी। हालांकि जाधव को राजनयिक मदद मिलने को लेकर अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सचिव सरताज अजीज का कहना है कि इंटरनेशनल कोर्ट ने राजनयिक मदद देने को लेकर कोई आदेश नहीं दिया है। उनके इस बयान से कयास लगाए जा रहे हैं कि पाकिस्तान जाधव को राजनयिक मदद नहीं देगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App