ताज़ा खबर
 

वीडियो: पीएम मोदी ने मिलाने के लिए हाथ बढ़ाया मगर जेटली ने किया नमस्‍ते

जेटली के 14 मई को गुर्दा प्रत्यारोपण से गुजरने के बाद यह उनकी पहली सार्वजनिक उपस्थिति थी। उनके अगले हफ्ते से कार्यभार संभालने की उम्मीद है।

सदन में अरुण जेटली ने हाथ जोड़कर प्रधानमंत्री का अभिवादन किया। (Photo : Rajya Sabha TV)

राज्यसभा के सदस्यों ने गुरुवार (9 अगस्‍त) को केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। जेटली गुर्दा प्रत्यारोपण के बाद पहली बार ऊपरी सदन में पहुंचे थे। सभी सदस्यों ने पार्टी लाइन से हटकर जेटली का मेजें थपथपाकर स्वागत किया। जेटली राज्यसभा में सदन के नेता हैं। इसके बाद जेटली ने राज्यसभा के उपसभापति के चुनाव के लिए अपना वोट दिया। सभापति एम.वेकैंया नायडू ने सांसदों से जेटली के करीब नहीं जाने या उन्हें नहीं छूने का आग्रह किया। ऐसा उन्होंने संभवत: चिकित्सकीय परामर्श की वजह से कहा। सदन में बाद में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जेटली से हाथ मिलाने ही जा रहे थे, लेकिन बाद में सिर्फ नमस्कार कर बधाई दी। यह वीडियो सोशल साइट्स पर वायरल हो रहा है।

जेटली के 14 मई को गुर्दा प्रत्यारोपण से गुजरने के बाद यह उनकी पहली सार्वजनिक उपस्थिति थी। हालांकि, वह सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं और ब्लॉग लिखकर विभिन्न राजनीतिक व आर्थिक मुद्दों पर सरकार की राय रख रहे हैं। उन्होंने बीते महीने वस्तु व सेवा कर की पहली वर्षगांठ पर टेलीकांफ्रेंसिंग के जरिए एक समारोह को संबोधित किया। उनके अगले हफ्ते से कार्यभार संभालने की उम्मीद है।

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) समर्थित उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह के उपसभापति पद पर चुनाव के बाद सदन में बोलते हुए जेटली ने हरिवंश को बधाई दी। जेटली ने कहा, “जिन्होंने इस सदन की परंपरा को बनाया, उन्होंने उपसभापति की एक सीट को विपक्ष के नेता के बगल में देते हुए जरूर कुछ सोचा होगा। शायद यह व्यवस्था इसलिए ऐसी की गई कि आप (हरिवंश) आजाद साहब (गुलाम नबी) के बगल में बैठते हैं, लेकिन हमें देखते हैं।” इस परिहास युक्त टिप्पणी पर सदस्यों ने ठहाके लगाए और मेज थपथपाई।

प्रधानमंत्री मोदी ने हरिवंश को बधाई दी और कहा, “मैं राज्यसभा के उपसभापति के रूप में चयनित होने के लिए हरिवंशजी को बधाई देता हूं।” मोदी ने हरिवंश का वर्णन ‘बहुत अध्ययन’ करने वाले व्यक्ति के रूप में किया जिन्होंने ‘बहुत कुछ लिखा भी है।’ उन्होंने कहा कि चुनाव मैदान में दो ‘हरि’ थे और आशा जताई कि हरिवंश की जीत से सदन में हरिकृपा बनी रहेगी। मौजूदा मानसून सत्र में पहली बार भाग लेने वाले जेटली ने भी हरिवंश को बधाई दी और कहा कि वह आश्वस्त हैं कि हरिवंश पद की गरिमा को बनाए रखेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App