ताज़ा खबर
 

वीडियो: परिवारवाद के लगे आरोप तो 29 साल का हिसाब लगाने में जुट गए कांग्रेसी, स्मृति ईरानी ने ली चुटकी

एक बार फिर से स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधकर आरोप लगाए हैं कि पार्टी कैसे परिवारवाद की राजनीती को बढ़ावा देती है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी कांग्रेस और गांधी परिवार पर जमकर निशाना साधने के लिए जानी जाती है। वहीं एक बार फिर से उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधकर आरोप लगाए हैं कि पार्टी कैसे परिवारवाद की राजनीती को बढ़ावा देती है। हालांकि इस बार केंद्रीय मंत्री का अंदाज थोड़ा अगल और मजाकिया है। उन्होंने ट्विटर के जरिए कांग्रेस पर हमला बोला है। दरअसल ट्विटर पर उन्होंने कांग्रेस की एक प्रेस वार्ता का वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी और मीडिया कॉर्डिनेटर प्रणव झा मौजूद हैं। 2 मिनट की इस वीडियो क्लिप में कांग्रेस के नेता जो बातें करते हुए नजर आ रहे हैं उन्हें जानकर शायद आप भी हंसी से लोट-पोट हो जाएंगे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस प्रेस वार्ता में राहुल गांधी को लेकर परिवारवाद की राजनीति के संबंध में एक सवाल पूछा गया। इस सावाल पर अभिषेक मनु सिंघवी को कोई जवाब नहीं सूझा और कुछ देर के लिए वह चुप्पी साध गए। इसके बाद प्रणव झा, अभिषेक का जवाब तैयार करने में उनकी मदद करने में जुट गए। दोनों की कोशिश थी कि लोगों तक उनकी बात न पहुंचे लेकिन बातें रिकॉर्ड हो गईं।

वीडियो (Source: Twitter/Smriti Z Irani)

परिवारवाद की राजनीति के संबंध में प्रणव अभिषेक से कहते हुए सुने जाते हैं- “गांधी परिवार का कोई सदस्य पॉवर में किसी पद पर नहीं रहा है।” इस पर अभिषेक कहते हैं कि राजीव गांधी और इंदिरा गांधी पीएम रहे हैं। अभिषेक से नया जवाब मिलने के बाद प्रणव उन्हें सुझाव देते हैं कि दोनों के पीएम बनने और अभी तक के परिवार के किसी सदस्य के पद पर रहने की समय सीमा का हिसाब लगाकर जवाब दिया जाए। इसके बाद अभिषेक अपनी जेब से एक पेन निकालकर हिसाब लगाते हैं कि राजीव गांधी के बाद बीते 29 सालों में गांधी परिवार को कोई सदस्य किसी बड़े सरकारी पद पर या पीएम पद पर नहीं रहा ऐसे में वह कैसे पार्टी पर परिवारवाद की राजनीति का आरोप लगा सकते हैं। स्मृति ईरानी ने इस वीडियो को “Comedy of errors, Dynasty ke statement par dynasty ke supporter kya bolein iss par gehen calculation” कैप्शन के साथ शेयर किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App