योगी आदित्यनाथ के कंधे पर हाथ रख क्या बोले थे पीएम नरेंद्र मोदी, यूपी सीएम ने खुद बताया

सीएम योगी ने कहा कि पिछले साढ़े 7 वर्षों में जो प्रयास किए गए हैं उसके अंतर्गत बहुत अच्छे परिणाम आए हैं। दुनिया के अंदर भारत की छवि को लेकर एक निखार आया है।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
कंधे पर हाथ रखकर पीएम नरेंद्र मोदी आपसे क्या कह रहे थे? इस सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने दिया यह जवाब (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई थी। इस तस्वीर को लेकर विपक्षी दलों ने तंज भी कसा था। इस वायरल तस्वीर में पीएम मोदी सीएम योगी के कंधे पर हाथ रखकर कुछ समझाते नजर आ रहे थे। इसी तस्वीर को लेकर टाइम्स नाउ नवभारत चैनल के एंकर सुशांत सिन्हा ने उनसे सवाल पूछा।

इसके जवाब में सीएम योगी ने कहा, ” नरेंद्र मोदी अब तक के लोकप्रिय और यशस्वी प्रधानमंत्री हैं। हम लोगों के नेता हैं। ये हमारा सौभाग्य है कि जिस कांफ्रेंस के दौरान प्रधानमंत्री लखनऊ में 2 दिन रूके थे। इस दौरान मुझे उनके साथ कुछ समय व्यतीत करने का मौका मिला। उस दौरान राज्य के विकास को लेकर उन से चर्चा हो रही थी।

सीएम योगी ने बताया कि हम यूपी में जो कुछ भी कर रहे हैं उसमें वह हमारे मार्गदर्शक हैं। कई लोगों को देखकर लगा कि जैसे कोई बड़ा भाई छोटे भाई को समझा रहा हो? इसके जवाब में सीएम योगी ने कहा – वे हमारे अभिभावक और मार्गदर्शक हैं। हर सम और विषम परिस्थिति में सरकार और राज्य के लिए उन्होंने पूरा समर्थन और सहयोग दिया है।

सीएम योगी के कंधे पर हाथ रख मंथन करते दिखे PM मोदी, वायरल Photos पर लोग कर रहे ऐसे कमेंट्स

कोरोना का जिक्र करते हुए सीएम योगी ने कहा कि अगर यूपी में कोविड का नियंत्रण सही ढंग से हो पाया तो वह केवल पीएम मोदी के मार्गदर्शन और प्रेरणा के कारण हो पाया। उनसे केवल विकास को हमने कैसे धरातल पर उतारा है, उसी को लेकर चर्चा हो रही थी। उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ में कसीदे पढ़ते हुए कहा कि उनका जो एजेंडा है वह बिल्कुल साफ है। वह नेशन फर्स्ट के बारे में सोचते हैं।

सीएम योगी ने कहा कि पिछले साढ़े 7 वर्षों में जो प्रयास किए गए हैं उसके अंतर्गत बहुत अच्छे परिणाम आए हैं। दुनिया के अंदर भारत की छवि को लेकर एक निखार आया है। देश के अंदर एक नया विश्वास जगा है। उन्होंने कोरोना को लेकर कहा कि अमेरिका का हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर भारत से कई गुना अच्छा है लेकिन वहां पर कोरोना से ज्यादा लोगों की जानें गई। वहां पर लोगों ने नकारात्मक कैंपेन नहीं चलाया लेकिन भारत में कुछ लोगों ने कोरोना नकारात्मक राजनीति की।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।