VIDEO: Parody song on Noteban Anniversary gone viral on social media - VIDEO: 'बार-बार फेंको..ये फेंकने में तेज है विकास के पिता', वायरल हो रहा है नोटबंदी पर बना ये गाना - Jansatta
ताज़ा खबर
 

VIDEO: ‘बार-बार फेंको..ये फेंकने में तेज है विकास के पिता’, वायरल हो रहा है नोटबंदी पर बना ये गाना

इस गाने को लोग शेयर कर रहे हैं और कमेंट करते हुए लिख रहे हैं कि देखना इस गाने के लिए सरकार आप लोगों को जेल में ना डाल दे क्योंकि माहौल ऐसा ही बना हुआ है।

तस्वीर वायरल हो रहे वीडियो का स्क्रीनशॉट है।

8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए बताया कि आज शाम 8 बजे से पूरे देश में 500 और हजार रुपए के नोट चलन से खत्म हो जाएंगे। नोटबंदी के इस सरकारी फरमान के एक साल पूरे होने जा रहे हैं। एक साल पूरे होने के मौके पर नोटबंदी पर बना एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। दरअसल ये गाना बॉलीवुड के गीत बार-बार देखो की तर्ज पर बना है। इस पैरोडी सॉन्ग के बोल हैं बार-बार फेंको..। वीडियो को यूट्यूब पर The Banned नाम के यूट्यूब चैनल से अपलोड किया गया है। इस गाने के जरिये से ये बताने की कोशिश की जा रही है कि नोटबंदी के फैसले से कैसे आम लोगों के जीवन पर असर पड़ा औऱ उनको किन-किन तकलीफों से रूबरू होना पड़ा। इस गाने को लोग शेयर कर रहे हैं और कमेंट करते हुए लिख रहे हैं कि देखना इस गाने के लिए सरकार आप लोगों को जेल में ना डाल दे क्योंकि माहौल ऐसा ही बना हुआ है।

नोटबंदी पर वायरल हो रहे इस गाने को 5 युवाओं ने मिलकर बनाया है। The Banned के इन सदस्यों के नाम मयंक, रमणीक सिंह, रॉसी डिसूज़ा, धम्मरक्षित, सिद्धार्थ और मिथुन है। अलग-अलग राज्यों और सुमदायों के युवाओं के इस ग्रुप का मानना है कि नोटबंदी पर राजनीति तो खूब हुई लेकिन आम इंसान को जो परेशानियां हुईं उसपर कोई बात नहीं कर रहा। The Banned के एक सदस्य रॉसी डिसूजा ने बताया कि इस गाने को बनाने का मकसद था कि नोटबंदी के दुष्प्रभावों को लोगों तक पहुंचाया जाए। वहीं ग्रुप के मयंक का कहना है कि लोग ऐसे ही अपनी समस्याओं में उलझे रहते हैं इसलिए हमने एक गाने के तौर पर लोगों तक अपनी बात पहुंचाने की कोशिश की है।

The Banned का कहना है कि इस गाने के लिए कुछ लोग उन्हें कांग्रेस का सपोर्टर कहा जै रहा है जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। ग्रुप के सदस्य मिथुन ने कहा कि, ‘हम लोगों ने सिर्फ सरकार के एक फैसले की निंदा की है। हमारा किसी भी राजनीतिक दल से कोई लेना देना नहीं है।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App