ताज़ा खबर
 

VIDEO: अयोध्या में राम मंदिर ना बनने पर भड़की बुजुर्ग महिला, बोलीं- कल्याण सिंह होते तो..

पत्रकार चित्रा त्रिपाठी ने वीडियो शेयर किया है। वीडिय़ो शेयर करते हुए चित्रा ने लिखा- एक ऐसी गरीब बूढ़ी साठ साल की महिला को आप सुनेंगे जो अयोध्या को लेकर शानदार तरीके से अपनी बात रख रही हैं।
तस्वीर वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट है।

सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है। ये वीडियो एबीपी न्यूज़ की एंकर चित्रा त्रिपाठी ने अपने फेसबुक अकाउंट से अपलोड किया है। चित्रा त्रिपाठी के पेज से ही इस वीडियो को अब तक हजारों लोग शेयर कर चुके हैं। वीडियो में चित्रा त्रिपाठी एक बुजुर्ग महिला से अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर बात कर रही हैं। वीडियो में साफ दिख रहा है कि राम मंदिर ना बनने से वह बुजुर्ग महिला काफी व्यथित है। महिला कह रही है कि हमारे भगवान राम यहां पर्दे के अंदर बंद हैं..बारिश में भीग रहे हैं और वो लोग आराम से बंगले में बैठे हैं। यह महिला कोर्ट के पेंडिंग फैसले को लेकर भी अपनी नाराजगी जाहिर कर रही है। वीडियो में दिख रहा है कि ये महिला कहती है- यो कोर्ट कौन होता है हमारे बगवान राम पर फैसला करने वाला। हम इस कोर्ट को नहीं मानते। जब मंदिर तोड़कर वहां मस्जिद बनाया गया, तमाम हिंदुओं के खून की नदियां बहीं तब कहां था ये कोर्ट। महिला से जब चित्रा त्रिपाठी ने पूछा कि जिस तरह से पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ मंदिर बनवाने के लिए काम कर रहे हैं क्या आप उससे संतुष्ट हैं। इस सवाल पर महिला और आग बबूला हो जाती है। वह कहती है कि ये लोग कुछ नहीं कर रहे, एक साल हो गए योगी जी को कुर्सी मिले लेकिन अभी तक मंदिर नहीं बना। अगर हमारे कल्याण सिंह होते तो मंदिर बन गया होता, लेकिन उनको तो नौकरी दे कर(राज्यपाल बना कर) किनारे कर दिये हैं। ये महिला बता रही है कि वो पिछले 40-50 सालों से अयोध्या में है औऱ उसने राम मंदिर के लिए कारसेवा भी की है।

पत्रकार चित्रा त्रिपाठी ने उस महिला से बात करते हुए का लाइव वीडियो शेयर किया। वीडिय़ो शेयर करते हुए चित्रा ने लिखा- एक ऐसी गरीब बूढ़ी साठ साल की महिला को आप सुनेंगे जो अयोध्या को लेकर शानदार तरीके से अपनी बात रख रही हैं। राम भक्त अम्मा पूर्व सीएम कल्याण सिंह को याद करते हुये कहती हैं कि मोदी उन्हें नौकरी दई दिये ताकि वो अब कुछ बोल ना पायें। अम्मा बेहतरीन बोलती है। भीख मांग कर गुजारा चलाने वाली अम्मा ने कारसेवा में भी हिस्सा लिया था और राम मंदिर निर्माण के लिये चंदा भी देती रही है। उनकी इच्छा है कि मरने से पहले वो राम मंदिर बनता हुआ देख लें।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.