ताज़ा खबर
 

VIDEO: चीन में 4 की जगह पांच ‘पैर’ वाली गाय सुर्खियों में,, जानिए क्या इसके पीछे की वजह

दक्षिण-पश्चिमी चीन के क़िंग्लॉन्ग काउंटी में जन्मी यह गाय इन दिनों अपनी विकृता के कारण चर्चा का विषय बनी हुई है। बहुत से लोग इसे 'म्यूटेंट' गाय भी मानते हैं, लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि इसका विकृति का संबंध जुड़वा बच्चों से संबंधित है।

चीन में मिली 5 पैरों वाली गाय। (Photo Source: Videograb/Youtube)

दुनिया में अजीबोगरीब चीजें घटती और सामने आती है। जिसे देखकर आप हैरान रह जाएंगे। चीन से भी एक ऐसा ही वीडियो सामने आया है। वीडियो में एक गाय दिखाई दे रही है। देखने में यह गाय, दूसरी गायों की तरह की सामान्य नजर आ रही है। लेकिन इसमें कुछ ऐसा जो इसे दूसरे से भिन्न बनाता है। दरअसल इस गाय की पांच टांगें होने का दावा किया गया है। पांचवीं टांग गाय की पीठ पर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि यह गाय जन्म से ही ऐसी है, जो कि वास्तव में पशु के अजन्मे जुड़वा (animal unborn twin) से संबंधित है। दक्षिण-पश्चिमी चीन के क़िंग्लॉन्ग काउंटी में जन्मी यह गाय इन दिनों अपनी विकृता के कारण चर्चा का विषय बनी हुई है। बहुत से लोग इसे ‘म्यूटेंट’ गाय भी मानते हैं, लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि इसका विकृति का संबंध जुड़वा बच्चों से संबंधित है। पीपुल्स डेली चाइना की रिपोर्ट के मुताबिक इस तरह की विकृति अंडाणु के विभाजन (egg separation) के कारण होती है। इस तरह की विकृति की संभावना 0.03 प्रतिशत है।

गौरतलब है कि इससे पहले चीन में दो सिर और 6 पैरों वाला अजीबो गरीब कछुआ मिला था। इसे देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई थी। चीन के शांक्सी प्रांत स्थित फिश एंड फ्लावर शॉप में म्युटेंट कछुआ देखा गया है, इस कछुए के दो सिर और 6 पैर है। इस अजीबो गरीब कछुए को देखने वाले सबसे पहले शख्स उस दुकान के मालिक वॉन्ग है। उन्होंने उसे वक्त देखा जब वह मार्केट से ब्राजिलियन कछुओं का बॉक्स खरीद कर लाए। हालांकि वॉन्ग इसे अनजाने में खरीद कर लाए। बहुत से लोगों को लगता है कि इस कुछए को दो सिर और 6 पैरों का जोड़कर बनाया गया है। हालांकि, शानक्सी प्रांत चिकित्सा और जीवन विज्ञान संस्थान के शोधकर्ताओं ने चीनी मीडिया से कहा कि कछुए में आसामान्यता आनुवंशिक उत्परिवर्तन (Genetic Mutation) के कारण है, जैसे की मनुष्य में होती है। अजीब से दिखने वाला यह कछुए अपनी ओर लोगों को आकर्षित कर रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App