ताज़ा खबर
 

18 मौतों की खबर वाला अखबार पकड़ मुस्कुराते केशव प्रसाद मौर्य का फोटो वायरल, लोग कर रहे ट्रोल

मंगलवार (15 मई) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बड़ा हादसा हो गया था। यहां कैंट रेलवे स्टेशन के पास शाम पांच बजे तीन सालों से बन रहे पुल का हिस्सा गिर गया था, जिसके कारण कुल 18 लोगों की जान चली गई थी। हादसे के दौरान पुल पर मजदूर काम कर रहे थे। पुल का गार्डर जब गिरा था, तब वहां ट्रैफिक जाम लगा हुआ था। ऐसे में कुछ चार पहिया और दो पहिया वाहन उसके शिकार हुए थे।

वाराणसी पुल हादसे में 18 मौतें की खबर वाला अखबार पकड़े हुए केशव प्रसाद मौर्य। (फोटोः टि्वटर)

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सोशल मीडिया ट्रोल्स के निशाने पर आ गए। कारण उन्हीं का एक फोटो बना। फोटो में वह मुस्कुराते हुए नजर आ रहे थे। उप-मुख्यमंत्री इस तस्वीर में इसी के साथ एक अखबार भी थामे थे, जिसके पहले ही पन्ने पर वाराणसी हादसे में 18 लोगों की मौत की खबर छपी हुई थी। मौर्य को इस फोटो के लिए जमकर कोसा गया। लोगों ने उन्हें नीच और असंवेदनहीन करार दिया। साथ ही पूछा कि कैसे आप 18 बेगुनाहों की जान जाने के बाद ही मुस्कुरा लेते हैं।

आपको बता दें कि मंगलवार (15 मई) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बड़ा हादसा हो गया था। यहां कैंट रेलवे स्टेशन के पास शाम पांच बजे तीन सालों से बन रहे पुल का हिस्सा गिर गया था, जिसके कारण कुल 18 लोगों की जान चली गई थी। हादसे के दौरान पुल पर मजदूर काम कर रहे थे। पुल का गार्डर जब गिरा था, तब वहां ट्रैफिक जाम लगा हुआ था। ऐसे में कुछ चार पहिया और दो पहिया वाहन उसके शिकार हुए थे।

बुधवार (16 मई) को इसी घटना से जुड़ा मौर्य का फोटो टि्वटर पर वायरल हो रहा था। डॉ.आनंद राय ने अपने टि्वटर हैंडल से लिखा, “18 मौत के बाद भी मौर्य की ये हंसी। वही मौर्य, जिनके मंत्रालय के अधीन आने वाला पुल गिरा। हाथ में 18 मौत का अखबार लेकर भी आप ऐसे कैसे हंस लेते हैं जी?”

फिर क्या था, फोटो सामने आने पर अन्य लोगों ने उप-मुख्यमंत्री को निशाने पर लिया। देखिए इसी प्रकार की कुछ अन्य टिप्पणियां-

सोशल मीडिया के अलावा मौर्य के खिलाफ सड़कों पर भी प्रदर्शन हुआ था। बुधवार को उनके आवास पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उनके नाम और पदनाम लिखे ग्लो साइन बोर्डों के जरिए विरोध जताया था, जबकि गुरुवार (17 मई) को कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने इलाहाबाद फ्लाईओवर कांड के विरोध में मौर्य के चित्र पर नींबू मिर्च की माला चढ़ाई। विरोध का अनोखा तरीका अपनाते हुए उन्होंने ‘केशव चालीसा’ पढ़ी और उनकी आरती उतारी थी।

हालांकि, उप-मुख्यमंत्री ने इस हादसे के बाद कहा था कि सरकार मामले की जांच कर रही है और जो भी अफसर दोषी पाए जाएंगे, उन्हें जेल की हवा खानी पड़ेगी। मंगलवार को इससे पहले सीएम योगी शहर पहुंचे थे, जहां उन्होंने घटनास्थल का जायजा लिया था। सीएम ने इसके अलावा मृतकों के घर वालों को पांच-पांच लाख रुपए बतौर मुआवजे के रूप में देने का ऐलान किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App