ताज़ा खबर
 

यूपी के मंत्री ने होटल से मंगाकर दलित के घर में किया भोजन, कुमार विश्‍वास का तंज- मुंह पवित्र और शर्मदार होना चाहिए

अलीगढ़ जिले के लोहागढ़ में सुरेश राणा रविवार (30 अप्रैल) को रजनीश कुमार नाम के दलित शख्स के यहां पहुंचे थे। कबीना मंत्री ने उस दौरान वहां भोजन किया था। मंत्री के लिए दलित के घर पर खाना पकाया गया था। लेकिन उन्होंने होटल से खाना मंगाकर भोजन किया था।

Author Updated: May 2, 2018 4:37 PM
कबीना मंत्री सुरेश राणा ने अलीगढ़ में दलित के यहां बाहर से खाना मंगाकर खाया था, उसी पर कुमार विश्वास ने उनकी चुटकी ली है। (फोटोः फेसबुक/एएनआई)

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा इस वक्त विवादों में घिरे नजर आ रहे हैं। आरोप है कि उन्होंने दलित के घर पर खाना बनने के बाद भी होटल से मंगाकर भोजन किया। जाने-माने कवि और आम आदमी पार्टी (आप) के बागी नेता कुमार विश्वास ने इसी को लेकर राणा का नाम लिए बगैर उन पर तंज कसा है। विश्वास ने पूछा है कि इस मसले पर इतना हंगामा क्यों हो रहा है। आत्मा-अमृत से पगे फल खाने लायक मुंह पवित्र और शर्मदार होना चाहिए।

आपको बता दें कि अलीगढ़ जिले के लोहागढ़ में सुरेश राणा रविवार (30 अप्रैल) को रजनीश कुमार नाम के दलित शख्स के यहां पहुंचे थे। कबीना मंत्री ने उस दौरान वहां भोजन किया था। मंत्री के लिए दलित के घर पर खाना पकाया गया था। लेकिन उन्होंने होटल से खाना मंगाकर भोजन किया।

दलित का घर, हलवाई का खाना, खाकर घिरे योगी के मंत्री; आरोप- मिनरल वॉटर भी मंगाया

ताजा मामले में आप से खफा नेता ने इस बाबत सोमवार (1 मई) को एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, “राम जी के नवीन निविदा-कर्मचारी माता शबरी के वंशज के घर अयोध्या-राजमहल से अपना भोजन लेकर गए और खाया तो इस पर इतना हंगामा क्यों? शबरी के घर के आत्मा-अमृत से पगे फल खाने लायक मुंह पवित्र और शर्मदार होना चाहिए।”

रजनीश ने बाद में इस बारे में बताया, “मुझे नहीं पता था कि मंत्री रात्रि भोज पर मेरे घर आने वाले हैं। वह अचानक से पहुंचे थे। खाना, पानी और बाकी के सामान का बंदोबस्त बाहर से उन्हीं के द्वारा किया गया था।”

मंत्री ने खाने में दाल मखनी, मटर पनीर, पुलाव, तंदूरी रोटी और गुलाब जामुन मंगाया था। यही नहीं, उन्होंवे दलित के घर पर बाहर से मिनरल वॉटर भी मंगाया था। हालांकि, मंत्री ने इस मसले पर विवाद पनपने के फौरन बाद अपनी सफाई जारी कर दी।

मंत्री का कहना था, “मेरे साथ उस दौरान तकरीबन 100 लोग थे। ऐसे में हमें बाहर से खाना मंगाना पड़ा था। हालांकि, मैंने उनके यहां घर का बना खाना भी खाया था। दलित परिवार को मेरे दौरे के बारे में जानकारी थी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 9 महीने पहले ब्‍वॉयफ्रेंड ने दिया था धोखा, लड़की ने ऐसे लिया बदला कि दुनिया कर रही तारीफ
2 IPL 2018: कप्तान धोनी और CSK ने ग्राउंड स्टाफ पर बरसाया प्यार, लोगों ने भी की जमकर तारीफ
3 बाबा रामदेव की पतंजलि के प्रोडक्ट पर अगले महीने की मैनुफैक्चरिंग डेट? जांच के आदेश