scorecardresearch

हॉस्टल में घुसकर नौकरी बांट रहे- प्रयागराज में पुलिस ने छात्रों पर बरसाई लाठियां, फूटा लोगों का गुस्सा

प्रयागराज में नौकरी की मांग कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज हुआ। छात्रों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों का आक्रोश देखने को मिल रहा है।

Prayagraj Police, Prayagraj student, Prayagraj
प्रयागराज में हॉस्टल में घुसकर पुलिस ने लाठीचार्ज किया (फोटो सोर्स: सोशल मीडिया_

प्रयागराज में नौकरी के लिए प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। सोशल मीडिया पर कई वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें दिखाई दे रहा है कि पुलिस बर्बरता के साथ छात्रों को पीट रही है। इतना ही नहीं एक वीडियो में पुलिस हॉस्टल के अंदर घुसकर छात्रों की पिटाई करती दिखाई दे रही है। वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का आक्रोश देखने मिल रहा है।

हॉस्टल में घुसकर छात्रों की पिटाई: प्रयागराज के सलोरी इलाके में छात्र रेलवे ट्रैक पर ही बैठ गए और काफी देर तक प्रदर्शन करते रहे। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर छात्रों को ट्रैक से हटाया। पुलिस उग्र प्रदर्शन में शामिल छात्रों को खोजने लगी। इसी से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें पुलिस हॉस्टल में घुसकर छात्रों के कमरे के दरवाजे खुलवा रही है। इतना ही नहीं पुलिस, बंदूक के बट से दरवाजे को तोड़ने की कोशिश कर रही है और जो भी छात्र बाहर आ रहे हैं उन्हें पीट रही है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने दिया ऐसा रिएक्शन: सोशल मीडिया पर इस वीडियो को देखकर लोग आक्रोशित हैं और अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। अक्षय यादव नाम के यूजर ने लिखा कि अगर मैं इसे आतंकी हमला कहूं तो गलत नहीं होगा। योगी जी आपकी पुलिस कैसे हम विद्यार्थियों को हॉस्टल में घुसकर मार सकती है? हम रोजगार मांग रहे हैं, अगर आप नहीं दे सकते सत्ता छोड़ दो और इन पुलिस वालों को भी ले जाओ साथ में, हम आतंकवादी नहीं हैं।

अशोक मिश्रा नाम के यूजर ने लिखा कि इन पुलिस वालों को भी अपने संघर्ष के दिनों को याद करना चाहिए क्योंकि बिना संघर्ष किए तो इन्हें वर्दी नहीं मिली होगी और यहां बात तो रेलवे में हुए बहुत बड़े फ़र्जीवाडे की है। आखिर छात्रों से सरकार डरती क्यों है? हमें रोजगार चाहिए, भाषण नहीं। हमें नौकरी चाहिए, कोई आंदोलन नहीं।

सतीश आर्य नाम के यूजर ने लिखा कि पहले सरकार ने किसानों पर लाठी चार्ज किया ,अब स्टुडेंट पर लाठी चार्ज कर रही है। सरकार के मंत्री विधायक जनता के बीच में पिट रहे हैं, उस का बदला ले रहे हैं क्या ? बीजेपी वाले कल कहेंगे ये समाजवादी पार्टी के लोग थे। दिव्य प्रकाश नाम के यूजर ने लिखा कि इन पुलिस वालों को देखो, कैसे गाली दे रहे हैं। किसके इशारे पर लाठियां बजा रहे हैं। सबकी जिम्मेदारी तय हो और सबको बर्खास्त किया जाए। स्वामी (सिर्फ भारतीय) नाम के यूजर ने तंज कसते हुए लिखा सरकार पकड़ पकड़ कर रोजगार उपलब्ध करवा रही है और युवा नौकरी लेना नहीं चाहते। पुलिस कर्मियों को बधाई और ऐसे पकड़ पकड़ कर रोजगार देने में सरकार का साथ देने के लिए, धन्यवाद।

अखिलेश यादव बोले- ‘ये बीजेपी के पतन का कारण बनेगा’: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी छात्रों पर हुए लाठीचार्ज पर प्रतिक्रिया दी है। अखिलेश यादव ने लिखा कि इलाहाबाद में अपने रोज़गार के लिए हक़ की आवाज़ बुलंद करने वाले बेगुनाह छात्रों पर पुलिस द्वारा हिंसक प्रहार शर्मनाक एवं घोर निंदनीय है। भाजपा सरकार में छात्रों के साथ जो दुर्व्यवहार हुआ है, वो भाजपा के ऐतिहासिक पतन का कारण बनेगा। सपा संघर्षशील छात्रों के साथ है!

‘छात्रों से बात कर सरकार निकाले हल’: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि रेलवे एनटीपीसी व ग्रुप डी परीक्षा से जुड़े युवाओं पर दमन की जितनी निंदा की जाए, कम है। सरकार तुरंत दोनों परीक्षाओं से जुड़े युवाओं से बात करके उनकी समस्याओं का हल निकाले। छात्रों के हॉस्टलों में घुसकर तोड़-फोड़ और सर्च की कार्रवाई पर रोक लगाए। गिरफ्तार किए गए छात्रों को रिहा किया जाए। विरोध प्रदर्शन करने के चलते उनको नौकरी से प्रतिबंधित करने वाला आदेश वापस लिया जाए। प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं से मेरी अपील है कि सत्याग्रह में बहुत ताकत होती है। शांतिपूर्ण ढंग से सत्याग्रह के मार्ग पर चलते रहिए।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.