ताज़ा खबर
 

योगी आदित्यनाथ के सीएम बनाए जाने पर टि्वटर यूजर्स बोले- हमें हमारा डोनाल्ड ट्रंप मिल गया

योगी आदित्यनाथ को सीएम उम्मीदवार चुनने के साथ ही केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को डिप्टी सीएम पद का उम्मीदवार बनाया गया है।

योगी आदित्यनाथ के नाम की घोषणा के साथ ही वे टि्वटर पर ट्रेंड करने लगे। ( Photo Source: Twitter)

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को शनिवार को भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया है। लखनऊ में हुई भाजपा विधायकों की बैठक में प्रदेश के अगले सीएम के तौर पर उनके नाम का प्रस्ताव रखा गया, जिस पर सभी विधायक सहमत हो गए। इसके साथ ही यूपी भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और लखनऊ मेयर दिनेश शर्मा को डिप्टी सीएम उम्मीदवार बनाया गया है। योगी आदित्यनाथ रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

योगी आदित्यनाथ को भाजपा विधायक चुने जाने के बाद वे टि्वटर और अन्य नेटवर्किंग साइट्स पर टॉप पर ट्रेंड करने लगे। कई लोगों ने जहां इस फैसले का समर्थन किया है, वहीं कईयों ने इसका विरोध किया है। शैलजाकांत सिंह नाम के यूजर ने लिखा है, ‘हमें हमारा डोनाल्ड ट्रंप मिल गया है। यह कदम नोटबंदी से भी बड़ा कदम है।’ पवन आचार्य ने टि्वटर पर लिखा है, ‘देश का पीएम मोदी, यूपी का सीएम योगी और दिल्ली का सीएम रोगी।’

वहीं भावना अग्रवाल नाम के यूजर ने लिखा है, ‘भाजपा का यूपी में योगी को सीएम चुनने का फैसला यह साबित करता है कि सबका साथ, सबका विकास कुछ नहीं है, यह एक मार्केटिंग चाल है।’ इसके साथ ही विक्रम ने लिखा है, ‘यह तो यूपी की घर वापसी हो गई।’ दिनेश सुथार ने लिखा है, ‘यूपी ने जात-पांत से ऊपर उठकर, जिस खास आशा में भाजपा को वोट दिया, उसने वही आशा पूरी की है बगैर जात वाले योगी आदित्यनाथ से बहुत खास आशाएं हैं।’ बांका राम चौधरी ने ट्वीट किया है, ‘ट्रंप शिवसेना के ग्लोबल वर्जन हैं। महंत आदित्यनाथ ट्रंप के स्थानीय वर्जन हैं।’

डॉ. निहारिका कौशिक ने लिखा है, ‘बधाई हो, सुना है यूपी में फिर से लल्ला ने जन्म लिया है। यूपी का नया बाण बनने के लिए योगी आदित्यनाथ को बधाई।’ गौरव अवस्थी ने लिखा है, ‘राम मंदिर बनाने का आगाज़ हुआ है, अब तिलक का राज होगा और मंदिर का रास्ता साफ होगा।’ मोहित सिंह ने लिखा है, ‘मेरा अपना अनुमान है, UP का नौकरशाही तंत्र अब थरथर डोलेगा, शांति और प्रगति का बुनियाद शासन तंत्र का चुस्त-दुरुस्त होना है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 1922 में आज के ही दिन ब्रिटिश अदालत ने राजद्रोह के मामले में गांधी जी को 6 साल की जेल की सजा सुनाई थी
2 कश्मीर के आईएएस टॉपर ने कहा सरकारी नौकरी है गुलामी तो साथी आईपीएस ने जमकर लताड़ा
3 वीडियो: टीचर पर भड़के मनोज तिवारी, कहा- तमीज नहीं है? यहां CCTV लगे हैं और तुम कह रही हो कि गाना गाओ