ताज़ा खबर
 

बाबर की नहीं भगवान राम की औलाद हैं भारत के मुसलमान: गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह ने कहा, 'जिस तरह शिया मुसलमान भाई आगे बढ़े हैं, उसी तरह सुन्नी भाई भी आगे बढ़ें और समाज में समरसता बढ़ाने में योगदान दें।'
बिहार के नवादा से बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में केंद्रीय राज्य मंत्री हैं।

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने देश में रह रहे मुसलमानों की धार्मिक पहचान पर फिर से बयान दिया है। गिरिराज सिंह ने कहा है कि भारत में रहने वाले मुस्लिम मुगल शासक बाबर की औलाद नहीं हैं बल्कि वह भी हिन्दुओं जैसे भगवान राम की संतान हैं। राजस्थान के जोधपुर में रविवार (26 नवंबर) को गिरिराज सिंह ने कहा कि भारत में रहने वाले मुसलमान और हिन्दू एक ही वंशज और एक ही कुल के हैं। उन्होंने कहा कि भारत में रहने वाला मुस्लिम बाबर की औलाद नहीं है, वह राम का वंशज है। गिरिराज सिंह ने कहा कि भारत के मुसलमानों को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में सहयोग करना चाहिए। अपने विवादित बयान के लिए चर्चा में रहने वाले गिरिराज सिंह ने कहा भारत में हिन्दू-मुसलमानों की धर्म पद्धति भले ही अलग-अलग हो लेकिन उनके पूर्वक एक हैं। गिरिराज सिंह ने कहा, ‘जिस तरह शिया मुसलमान भाई आगे बढ़े हैं, उसी तरह सुन्नी भाई भी आगे बढ़ें और समाज में समरसता बढ़ाने में योगदान दें।’

गिरिराज सिंह ने कहा कि देश के मुस्लिम भाइयों को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में सहयोग देना चाहिए। केन्द्रीय मंत्री के मुताबिक जब दोनों के पूर्वज एक हैं तो मुसलमानों को राम मंदिर के निर्माण में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। गिरिराज सिंह ने राम मंदिर ना बनाने के प्रस्ताव पर कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि भगवान राम सदियों से हिन्दू समुदाय के लिए मर्यादा पुरुषोत्तम रहे हैं, वह आस्था का प्रतीक रहे हैं, तो भारत में राम मंदिर नहीं बनेगा तो कहां बनेगा।

बता दें कि इससे पहले ही गिरिराज सिंह ने फिल्म पद्मावती विवाद पर भी बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि हिन्दू उदार हैं इसलिए उन्हें बार-बार निशाने पर लिया जाता है। गिरिराज सिंह के मुताबिक हिन्दुओं के शौर्य से खिलवाड़ किया जाता है और उनके अतीत को कमजोर और कुचला हुआ दिखाया जाता है, जबकि ऐसा सच नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.