ताज़ा खबर
 

24 घंटे बिजली के दावे पर लोगों ने योगी को सुनाई खरी-खरी, बोले- जले पर नमक मत छिड़को

ट्विटर पर यूजर्स ने बिजली की खराब हालत को लेकर अपनी नाराजगी ट्विटर पर जाहिर की। यूजर्स की प्रतिक्रिया को देखकर बिजली के प्रति लोगों की गुस्सा का अंदाजा लगाया जा सकता है।

बैठक से बाहर आते सीएम योगी आदित्‍य नाथ। (Source: PTI)

यूपी की योगी सरकार ने 2018 तक पूरे राज्य में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। योगी आदित्य नाथ की ओर से उनके कैबिनेट सहयोगी और राज्य के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा था कि मुख्यमंत्री का आदेश है कि गर्मी में गांवों में 18 घंटे बिजली मिलेगी और बुंदेलखंड को 20 घंटे बिजली मिलेगी। योगी सरकार की ओर से कहा गया था कि गांवों में 18 घंटे, तहसील मुख्यालयों में 20 और जिला मुख्यालयों पर 24 घंटे बिजली आएगी। इस बात का ऐलान 11 अप्रैल को दूसरी कैबिनेट मीटिंग खत्म होने के बाद किया गया था। तबसे लेकर कई बार सरकार द्वारा यह बात दोहराई जा चुकी है। हालांकि लोगों का कहना है कि बिजली व्यवस्था जस की तस बनी हुई है। 19 अप्रैल को यूपी के मुख्यमंत्री के आधिकारिक ट्विटर हैंडल (@CMOfficeUP) से भी 19 मई ऐसा ही ट्वीट किया गया। जिसके बाद बिजली की किल्लत से जूझ रही जनता ने इस पर तीखे प्रहार किए।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

ट्विटर पर यूजर्स ने बिजली की खराब हालत को लेकर अपनी नाराजगी ट्विटर पर जाहिर की। यूजर्स की प्रतिक्रिया को देखकर बिजली के प्रति लोगों की गुस्सा का अंदाजा लगाया जा सकता है। योगी सरकार ने बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए केंद्र के साथ कुछ समय पहले समझौता भी किया था। एक यूजर्स ने लिखा- “आप लोग जले पे नमक वाली बात करते हैं एक तो लाइट नही देते हैं ऊपर से18 और24 घंटे की बात करते हैं।” दूसरे यूजर ने कहा कि फिर बरेली शहर में बिजली कटौती क्यों हो रही है।पहले से भी बदत्तर हालत कर दी आपने तो।

हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी और उसके सहयोगी पार्टियों को कुल 325 सीटें मिली थी। इसके बाद योगी आदित्यनाथ को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया गया था। इतनी भारी बहुमत के कारण जनता से उनकी उम्मीदें भी बहुत ज्यादा है। वहीं, विपक्षी दल कानून-व्यवस्था और अन्य चीजों को लेकर सरकार पर निशाना साध रहे हैं।

गोरखपुर दंगा केस: हाईकोर्ट ने रोका क्लोजर रिपोर्ट पर फैसला, योगी सरकार ने नहीं दी थी केस पर इजाजत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App