ताज़ा खबर
 

पत्रकार को मिली डी.लिट की उपाधि तो डाला वीडियो, लोगों ने कर दिया ट्रोल

हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी ने पत्रकार रजत शर्मा को डी.लिट की उपाधि दी, जिसके बाद चैनल ने इसे न्यूज के तौर पर दिखाया।

Author November 20, 2017 12:06 PM
रजत शर्मा ने साल 2004 में इंडिया टीवी की शुरुआत की थी। (फाइल फोटो)

हिंदी न्यूज चैनल इंडिया टीवी के एडिटर-इन-चीफ और चेयरमैन रजत शर्मा को ग्वालियर की आईटीएम यूनिवर्सिटी द्वारा डी.लिट की उपाधि से सम्मानित किया गया। हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी ने पत्रकार रजत शर्मा को ये उपाधि दी, जिसके बाद चैनल ने इसे न्यूज के तौर पर दिखाया। चैनल द्वारा वीडियो दिखाने के बाद सोशल मीडिया के एक धड़े ने रजत शर्मा को काफी ट्रोल किया है। कुछ लोगों ने जहां 2000 के नोट पर नैनो चिप लगी होने की अफवाह को लेकर रजत शर्मा पर निशाना साधा है तो वहीं कुछ लोग ने पत्रकार को मिली उपाधि को साल 2017 का मजाक बताया है। कुछ लोगों ने तो यह तक कह दिया कि वे चाहें तो उन्हें भारत रत्न भी दिया जा सकता है। कुछ ट्विटर यूजर्स ने रजत शर्मा द्वारा संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती के लिए की गई तारीफ पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। वहीं ट्विटर पर कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने रजत शर्मा की उपलब्धि पर उन्हें बधाई दी है।

https://www.jansatta.com/trending/

बता दें कि रजत शर्मा इंडिया टीवी के कार्यक्रम आप की अदालत का संचालन भी करते हैं। हाल ही में पद्मावती को लेकर दिए गए अपने विचारों की वजह से शर्मा चर्चा में आए थे। ‘पद्मावती’ का राजपूत संगठनों द्वारा लगातार विरोध किया जा रहा है, जिसके कारण फिल्‍म के प्रोड्यूसर्स ने कुछ पत्रकारों के लिए स्‍पेशल स्‍क्रीनिंग रखी थी। फिल्म देखने के बाद रजत शर्मा ने कहा था कि फिल्‍म का कोई भी सीन ‘राजस्‍थान के लोगों या राजपूतों की आन-बान-शान के खिलाफ नहीं’ है। उन्‍होंने अपने प्राइम टाइम शो में कहा, ”फिल्‍म देखने के बाद मैं दावे से कह सकता हूं कि कोई नहीं कह पाएगा कि पूरी फिल्‍म की थीम में कुछ ऐसा है कि हमारे गौरवशाली राजपूती इतिहास के खिलाफ हो।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X