Twitter Users asks BJP that why they dont they do Digital Transaction to Patidar Leader Narendra Patel - पाटीदार नेता ने मीडिया के सामने लहराए 'बीजेपी के दिए' नोट, लोगों ने पूछा-डिजिटल ट्रांजेक्शन क्यों नहीं किया? - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पाटीदार नेता ने मीडिया के सामने लहराए ‘बीजेपी के दिए’ नोट, लोगों ने पूछा-डिजिटल ट्रांजेक्शन क्यों नहीं किया?

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक नरेंद्र पटेल का आरोप है कि बीजेपी में शामिल होने के लिए उन्हें एक करोड़ रुपए की पेशकश की गई थी।

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के वरिष्ठ नेता नरेंद्र पटेल ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका आरोप है कि पार्टी बदलने के लिए उन्हें एक करोड़ रुपए की पेशकश की गई थी।

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के वरिष्ठ नेता नरेंद्र पटेल ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने मीडिया के सामने बीजेपी के दिए नोट लहराए। आरोप लगाया कि उन्हें पार्टी में शामिल होने के लिए एक करोड़ रुपए देने की पेशकश की गई थी। यही नहीं, पार्टी बदलने के लिए 10 लाख रुपए उन्हें एडवांस भी दिए गए थे। टि्वटर पर इसी को लेकर यूजर्स की तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं देखने को मिलीं। किसी ने इस पर बीजेपी का मजाक बनाया, तो कोई पाटीदार नेता को लेकर टिप्पणी करता दिखा। एक यूजर ने केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद को टैग करते हुए पूछा कि सर क्या हुआ कैशलेस सोसायटी को? कृपया बीजेपी को डिजिटल पेमेंट करने की सलाह दें। दरअसल, पत्रकारों के सामने आकर नरेंद्र पटेल ने बीजेपी को लेकर खुलासा किया। कहा, “वरुण पटेल मुझे एक बैठक में लेकर गए थे, जहां मुझे एक करोड़ रुपए दिए जाने के बारे में बात हुई थी। मुझे बाद में कुछ रुपए उनके हाथों मिले थे। यह पैसे मुझे नहीं चाहिए। मैं सिर्फ पाटीदार समाज के लिए आंदोलन में आया हूं। मैं राजकीय अपेक्षा के लिए नहीं आया हूं। बीजेपी में शामिल होने के लिए मुझे एक करोड़ रुपए की पेशकश की गई थी, जिसके लिए 10 लाख रुपए एडवांस में दिए गए थे।”

जैसे ही यह मामला सोशल मीडिया पर आया, टि्वटर यूजर्स इस पर तरह-तरह के कमेंट करने लगे। अधिकतर लोग इस पर भाजपा पर हमला करते दिखे। वहीं, एक यूजर ने पाटीदार नेता के इस बाबत नाटक करने की बात कही। देखिए लोगों की कुछ ऐसी ही प्रतिक्रियाएं –

मीडिया के सामने यह भंडाफोड़ करते वक्त पटेल के पास बीजेपी के दिए रुपए थे। उनका आरोप है कि पार्टी बदलने के लिए उन्हें एक करोड़ रुपए की पेशकश वरुण पटेल के जरिए बीजेपी ने की थी। उन्होंने इसी पर फैसला किया था कि वह रुपए ले लेंगे और वरुण पटेल व बीजेपी को बेनकाब करेंगे। पटेल पाटीदार आंदोलन के प्रमुख हार्दिक पटेल के करीबी माने जाते हैं। वह मेहसाणा से आंदोलन समिति के संयोजक हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App