ताज़ा खबर
 

अनुराग ठाकुर को BCCI अध्यक्ष पद से हटाने पर ट्विटर यूजर्स ने जताई खुशी, गांगुली को कमान देने की भी मांग की

पद से हटाए जाने के बाद ठाकुर ने फेसबुक पर एक संदेश के माध्यम से अपनी बात रखी।

Author January 3, 2017 6:13 AM
बीसीसीाई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर (पीटीआई फाइल फोटो)

बीसीसीआई के विद्रोही तेवरों के प्रति कड़ा रवैया अपनाते हुए उच्चतम न्यायालय ने सोमवार (2 जनवरी) को उसके अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को उनके पदों से हटा दिया और कहा कि उन्हें तुरंत प्रभाव से बोर्ड का कामकाज करना बंद कर देना चाहिए। शीर्ष अदालत ने इसके साथ ही ठाकुर के खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरू करने का भी फैसला किया। उनसे जवाब मांगा गया कि बीसीसीआई में सुधार लागू करने के अदालत के निर्देशों के क्रियान्वयन में बाधा पहुंचाने के लिये आखिर क्यों न उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

मुख्य न्यायाधीश टी एस ठाकुर की अगुवाई वाली पीठ ने कहा कि बीसीसीआई के कामकाज को प्रशासकों की एक समिति देखेगी और उसने वरिष्ठ अधिवक्ता फाली एस नरिमन और इस मामले में न्यायमित्र के रूप में सहायता कर रहे गोपाल सुब्रहमण्यम से प्रशासकों की समिति में ईमानदार व्यक्तियों को सदस्यों के रूप में नामित करने में अदालत की मदद करने का आग्रह किया। अनुराग ठाकुर के इस तरह निकाले जाने पर ट्विटर यूजर्स ने खुशी जाहिर की। साथ ही मांग की कि दूसरी खेल बोर्ड में से भी खिलाड़ी निकाले जाएं। कुछ ने तो सौरभ गांगूली को बोर्ड का अगला अध्यक्ष बनाने की बात तक कर डाली।

पद से हटाए जाने के बाद ठाकुर ने फेसबुक पर एक मैसेज लिखकर कहा कि  ठाकुर ने कहा, ‘मेरे लिए यह निजी जंग नहीं थी, यह खेल संस्था की स्वायत्ता की लड़ाई थी। मैं उच्चतम न्यायालय का उतना की सम्मान करता हूं जितना किसी नागरिक को करना चाहिए। अगर उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों को लगता है कि बीसीसीआई सेवानिवृत्त न्यायाधीशों के नेतृत्व में बेहतर कर सकता है तो मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। मुझे यकीन है कि भारतीय क्रिकेट उनके मार्गदर्शन में अच्छा करेगा।’ उन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो क्लिप जारी करके उच्चतम न्यायालय के आदेश पर प्रतिक्रिया दी।

X