ताज़ा खबर
 

मनमोहन राज में 127 एचडीआई रैंकिंग को नरेंद्र मोदी ने बताया था दुर्दशा, अब है 131, सोशल मीडिया पर हुई खिंचाई

21 मार्च, 2017 को संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा स्टॉक होम (स्वीडन) में ‘मानव विकास रिपोर्ट-2016’ (Human Development Report-2016) जारी की गई थी। विश्व के 188 देशों की सूची में भारत को 131वें स्थान पर रखा गया था।

Author नई दिल्ली। | June 16, 2017 2:56 PM
यदि परमाणु समझौते पर दस्तखत किये जाते हैं तो यह सम्मेलन का केंद्र बिंदु होगा। (PTI)

गुजरात के सीएम रहने के दौरान नरेंद्र मोदी ने तत्कालीन यूपीए सरकार और उस समय पीएम रहे मनमोहन सिंह पर जबरदस्त निशाना साधा है। तत्कालीन गुजरात सीएम मोदी ने मानव विकास सूचकांक में भारत के 127वें नंबर पर आने पर इसे देश की दुर्दशा करार दिया था। अब इसी लेकर सोशल मीडिया पर उनकी खिंचाई हो रही है। वीडियो में मोदी एक कार्यक्रम के दौरान कह रहा हैं, “ह्यूमन डेवलेपमेंट इंडेक्स (HDI) में पूरे विश्व में हम (भारत) 127वें नंबर पर खड़े हैं। ये हमारी दुर्दशा है।” यूजर ने अपने ट्वीट में लिखा- “गुजरात के सीएम रहते हुए नरेंद्र मोदी ने भारत के 127वें नंबर पर रहने पर इसे भारत की दुर्दशा बताया था। अब मानव विकास सूचकांक में भारत का स्थान 131वां है। यह दुर्दशा है या वरदान?”

21 मार्च, 2017 को संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा स्टॉक होम (स्वीडन) में ‘मानव विकास रिपोर्ट-2016’ (Human Development Report-2016) जारी की गई थी। विश्व के 188 देशों की सूची में भारत को 131वें स्थान पर रखा गया था। सुंयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के मुताबिक भारत एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होने के बावजूद दक्षिण एशियाई पड़ोसी देश पाकिस्तान, भूटान और नेपाल की श्रेणी में है। साल 2015 की इस मानव विकास रिपोर्ट के मुताबिक भारत की रैकिंग में पिछले साल के मुकबाले कोई सुधार नहीं हुआ है।

 

तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी होने के बावजूद भी भारत, पाकिस्तान और केन्या के साथ
रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत का 131वां स्थान इसे ‘मध्यम मानव विकास’ श्रेणी में रखता है। इस श्रेणी में बांग्लादेश, भूटान, पाकिस्तान, केन्या, म्यांमार और नेपाल आते हैं। भारत पिछले साल की तुलना में एक स्थान पिछड़ गया है। पिछले साल इसी इंडेक्स में भारत को 130वां स्थान मिला था। सार्क देशों में भारत तीसरे स्थान पर है लेकिन मानव विकास सूचकांक के मामले में श्रीलंका और मालदीव की स्थिति भारत से बेहतर है। इस सूची में श्रीलंका 73वें और मालदीव 105वें स्थान पर है।मानव विकास सूचकांक (एचडीआई) एक ऐसा सूचकांक है, जिसका इस्तेमाल देशों को ‘मानव विकास’ के आधार पर परखने के लिए किया जाता है।

 

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App