ताज़ा खबर
 

टीवी एंकर ने जिग्‍नेश मेवानी से कहा- पहले अपने घर के बुजुर्ग को हिमालय पर भेजिए

अमीक जामेई ने कहा कि, 'कहने का आशय यह है कि आप (पीएम) तप करिए, अध्यात्म करिये, जो गलतियां की है, जो वादे करके पूरा नहीं किये हैं उसके लिए पश्चाताप करिये।'

अहमदाबाद में एक प्रदर्शन के दौरान दलित नेता जिग्नेश मेवानी (Express photo)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बूढ़ा बताने और हिमालय पर जाने की सलाह देने वाले दलित नेता जिग्नेश मेवानी के बयान पर हंगामा जारी है। गुजरात के नव निर्वाचित विधायक जिग्नेश मेवानी ने एक टीवी शो में कहा था कि पीएम मोदी अब बूढ़े हो चुके हैं और उन्हें अपनी जिंदगी गुजारने के लिए अब हिमालय पर जाना चाहिए। इसी मुद्दे पर टीवी चैनल न्यूज 18 पर एक गर्मागर्म बहस देखने को मिली। एंकर सुमित अवस्थी ने कहा कि इस मुद्दे पर जिग्नेश मेवानी को माफी मांगनी चाहिए, लेकिन वे माफी मांगने को तैयार नहीं है। इस पर शो के दौरान जिग्नेश के दोस्त अमीक जामेई हंगामा करने लगे। अमीक जामेई ने कहा कि हमारे पीएम खुद कहते हैं, ‘मेरा क्या है, मैं तो झोला उठाउंगा, चल दूंगा।’ अमीक जामेई ने कहा कि, ‘कहने का आशय यह है कि आप (पीएम) तप करिए, अध्यात्म करिये, जो गलतियां की है, जो वादे करके पूरा नहीं किये हैं उसके लिए पश्चाताप करिये।’बहस में एंकर ने कहा कि अमीक जामेई मैं मानूं कि आप यू टर्न कर रहे हैं। इसके बाद एंकर ने कहा, ‘देश में 60 साल से जितने भी बुजुर्ग हैं, अमीक जामेई और जिग्नेश मेवानी, आप अपने घर से शुरुआत कीजिए, जितने बुजुर्ग हैं उन्हें भेजिए हिमालय की तरफ।’

जिग्नेश मेवानी ने एक शो में कहा था कि ”मोदी अब बूढ़े हो चुके हैं और हर बार वही बोरिंग भाषण देते हैं, जिसमें कोई कंटेंट नहीं होता। उन्हें अब रिटायर होकर चैन की नींद लेनी चाहिए”। मेवानी ने तब यह भी कहा था कि, ”हमने उन्हें विकास के मुद्दे पर घेरा, जातिवाद पर नहीं। जब हम तीनों 2 करोड़ बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार की बात करते हैं तो हम दलित या पटेलों का जिक्र नहीं करते”। बता दें कि इससे पहले पीएम मोदी ने कहा था कि गुजरात में कांग्रेस के सहयोग से जातिवाद के मुद्दे को फिर से उभारा जा रहा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी अपने विकास के एजेंडे से इस मुद्दे को बहुत पहले ही दफ़्न कर चुकी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App