ताज़ा खबर
 

लाइव डिबेट में एंकर का क्रोध: कांग्रेस प्रवक्ता को बोलीं- आपकी हिम्मत कैसे हुई, 2 साल का बेटा है मेरा…

एंकर ने फिर कहा, "अचानक गले लगाना तो याद रहता है...अचानक आंख मारना तो ध्यान रहता है...सडेनली महिला पत्रकारों के साथ अनौपचारिक मीटिंग तो याद रहती है।" एंकर ने कहा कि आज आप राहुल गांधी को डिफेंड नहीं कर पा रही हैं।

दिल्ली के मंडावली में भूख से कथित रूप से तीन बच्चियों की मौत हो गई है।

देश की राजधानी दिल्ली में भूख से कथित तौर पर तीन बच्चियों की मौत का मामला सियासी बनकर रह गया है। टीवी स्टूडियो में इस मुद्दे पर लगातार डिबेट हो रहे हैं। ऐसे ही एक डिबेट में एंकर गुस्से से लाल हो गईं, जब कांग्रेस प्रवक्ता ने उन्हें कहा कि आप अगर इस मुद्दे को सनसनीखेज बनाना चाहती हैं तो ये आपका अधिकार हैं। जी न्यूज में इस मुद्दे पर चल रहे बहस के दौरान कांग्रेस की प्रवक्ता अमृता धवन ने कहा, “देखिए रुबिका जी डिबेट को सेंशेनलाइज करना है वो आपका अधिकार है।” इतना सुनते ही एंकर काफी गुस्से में आ गईं, उन्होंने कहा, “You dare tell me this…अमृता धवन…दो साल का बेटा है मेरा…एक घंटा कुछ खाता नहीं है न तो मां का कलेजा कांप जाता है…सेंशेनलाइज करने मैं बैठी हूं यहां पर…अमृता धवन…सनसनीखेज आप बनाते होंगे।” इस बीच में अमृता धवन भी अपने बचाव में बोलती रहीं।

एंकर ने आगे कहा, “सेंशेनलाइज राहुल गांधी करते होंगे, सेंशेनलाइज आप सदन में हग करके, आंख मार के करते होंगे…मेरा जवाब दीजिए…राहुल गांधी के लब क्यों सिल गये अमृता धवन…Don’t give me this…I am not going to take this…कांग्रेस प्रवक्ता अमृता धवन ने कहा कि, ‘राहुल गांधी ऐसे मामलों पर कभी पीछे नहीं हटे हैं…जब भी समाज कल्याण या फिर संवेदनशीलता की बात हो…चाहे वो झारखंड, उत्तर प्रदेश या दिल्ली की बात हो राहुल जी ने अपनी बात रखी है।” इस पर एंकर ने कहा कि मैं आपको वो क्लिप दिखाती हूं जिसमें राहुल से दिल्ली में भूखमरी से तीन बच्चियों की मौत के बारे में पूछा गया तो वे कैसे नजरअंदाज कर आगे बढ़ गये।

वीडियो क्लिप दिखाने के बाद एंकर ने फिर से सवाल पूछा-क्या हुआ अमृता धवन। इसके बाद कांग्रेस प्रवक्ता ने जवाब दिया, “अगर आप अचानक किसी से सवाल पूछते हैं और उन्हें उस संदर्भ में जानकारी नहीं हो तो इसका मतलब ये थोड़ी है कि उनकी संवेदनशीलता खत्म हो गई।” इसके जवाब में एंकर रुबिका लियाकत ने फिर कहा, “अचानक गले लगाना तो याद रहता है…अचानक आंख मारना तो ध्यान रहता है…सडेनली महिला पत्रकारों के साथ अनौपचारिक मीटिंग तो याद रहती है।” रुबिका ने कहा कि आज आप राहुल गांधी को डिफेंड नहीं कर पा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App