X

डिबेट: JDS प्रवक्ता भड़के- PM को नहीं जाने देंगे झोला लेकर, इस झोले में चौकसी, नीरव मोदी और माल्या है

एंकर ने भाजपा प्रवक्ता से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का कारण पूछा था। जब संबित पात्रा अपना पक्ष रख रहे थे तब जेडीएस महासिचव दानिश अली ने उन्हें टोकते हुए कहा कि 'जो ये बोल रहे थे कि मैं तो झोला लेकर आया और झोला लेकर चल दूंगा। ये झोला लेकर नहीं जाने देंगे।'

देशभर में पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों पर न्यूज चैनल आजतक के कार्यक्रम में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा और जेडीएस महासचिव दानिश अली के बीच खूब बहस हुई। दरअसल कार्यक्रम में एंकर अंजना ओम कश्यप ने भाजपा प्रवक्ता से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का कारण पूछा। जब संबित पात्रा अपना पक्ष रख रहे थे तब जेडीएस महासिचव दानिश अली ने उन्हें टोकते हुए कहा कि ‘जो ये बोल रहे थे कि मैं तो झोला लेकर आया और झोला लेकर चल दूंगा। ये झोला लेकर नहीं जाने देंगे। आपका तो जाना ही तय है, मगर इस झोले में आपके भाई मेहुल चौकसी हैं, इस थैले में नीरव मोदी हैं। इस थैले में विजय माल्या हैं। इस थैले में बहुत लोग हैं। इसका हिसाब देना पड़ेगा जो देश को लूटा है।’

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता संजय निरुपम ने कहा, ‘पिछले साढ़े चार सालों में पेट्रोल और डीजल के दाम जबरदस्त तरीके से बढ़े हैं। यूपीए सरकार में डीजल का भाव 55 प्रति लीडर था। मगर इस वक्त महाराष्ट्र 89 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। पेट्रोल का भाव 71 रुपए लीटर था और इस वक्त मुंबई में पेट्रोल का जो भाव है वो 88-89 रुपए प्रति लीटर के बीच है। यहां डीजल 77-78 रुपए है। गैस के सिलिंडर का भाव चार सौ रुपए बढ़कर 795 रुपए तक पहुंच गया। जो करीब दुगने के करीब है।’

निरुपम ने कहा कि भाजपा कहती है कि पेट्रोल-डीजल का नियंत्रण सरकार के हाथ में नहीं है। जो बिल्कुल झूठ है। इसका कारण यह है कि पिछले साढ़े चार सालों में पेट्रोल पर 211 फीसदी सेंट्रल एक्साइज बढ़ाया गया है और डीजल के ऊपर 419 फीसदी सेंट्रल एक्साइज बढ़ाया है। कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि सरकारें जब तक अपने टैक्स कम नहीं करेंगी तब तक ये दाम कम नहीं होंगे। निरुपम के मुताबिक यूपीए के शासनकाल में 107 डॉलर प्रती बैरल क्रूड ऑयल का दाम था जो आज के समय 73 डॉलर के हिसाब से है। इसका मतलब यह है कि 34 डॉलर के हिसाब से क्रूड ऑयल भी सस्ता हुआ है।

यहां देखें पूरा वीडियो-

  • Tags: TV Debate,
  • Outbrain
    Show comments