ताज़ा खबर
 

तीन तलाक पर टीवी पर गर्मागर्म बहस, शइस्ता अंबर से बोले मौलाना अंसार रज़ा- तुम्हारा घमंड सुनने के लिए नहीं बैठे

क्या तुम हिंदुस्तान की प्रधानमंत्री हो क्या कि तुम बोलोगी और हम सुनेंगे।

Restrictions, Whole Face Mask, Burka, Austria, Austria Restrictions, Burka Restrictions, Restrictions on Burka, Burka Ban, Burka Controversy, Ban on Whole Face Mask, Whole Face Mask on Austria, International News, Jansattaसरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगर कोई पति एक बार में तीन तलाक बोलता है, तो अब विवाह समाप्त नहीं होगा। (Photo Source: Twitter)

तीन तलाक पर इन दिनों सियासी पारा चढ़ा हुआ है। एक हफ्ते में प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ दोनों तीन तलाक के खिलाफ बयान दे चुके हैं। वहीं रोज देश में कहीं ना कहीं से इस से जुड़े मसले सामने आ रहे हैं। एक मुद्दे पर टीवी चर्चा में शामिल ऑल इंडिया मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड की अध्यक्ष  शइस्ता अंबर और मौलाना अंसार रज़ा के बीच करारी बहस छिड़ गई। शइस्ता टीवी पर तीन तलाक पर अपनी बात रख रही थी उनको अंसार रजा ने बीच में टोक दिया। इस बात पर शइस्ता ने कहा दिया आप चुप रहिए और हमारी बात सुनिए। ये बात अंसार रजा को पसंद नहीं आई और उन्होंने पलटवार करते हुए पूछा कि क्या तुम हिंदुस्तान की प्रधान मंत्री हो क्या कि तुम बोलोगी और हम सुनेंगे। यहां तुम्हारा घमंड सुनने के लिए बैठे हैं क्या। तीन तलाक का मुद्दा रोज और गर्माता जा रहा है। सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने तीन तलाक की तुलना द्रौपदी के चीरहरण’ से कर दी जिसके बाद वे उलमा की तीखी प्रतिक्रिया के निशाने पर आ गये।

 

 

मुख्यमंत्री ने कहा ‘‘कुछ लोग देश की इस (तीन तलाक) ज्वलंत समस्या को लेकर मुंह बंद किये हुए हैं, तो मुझे महाभारत की वह सभा याद आती है, जब द्रौपदी का चीरहरण हो रहा था, तब द्रौपदी  ने उस भरी सभा से एक प्रश्न पूछा था कि आखिर इस पाप का दोषी कौन है। योगी ने कहा ‘‘तब कोई बोल नहीं पाया था, केवल विदुर ने कहा था कि एक तिहाई दोषी वे व्यक्ति हैं, जो यह अपराध कर रहे हैं, एक तिहाई दोषी वे लोग हैं, जो उनके सहयोगी हैं, और वे भी दोषी हैं जो इस घटना पर मौन हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि मुस्लिम महिलाओं का शोषण खत्म होना चाहिए और उनके साथ न्याय होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर कोई सामाजिक बुराई है तो समाज को जागना चाहिए और न्याय प्रदान करने की दिशा में प्रयास करना चाहिए। प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि मुस्लिम महिलाओं को शोषण का सामना नहीं करना चाहिए। वहीं ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने साफ कर दिया है कि वो तीन तलाक के पक्ष में है लेकिन इसका इस्तेमाल करने वाले मर्द के सामाजिक बहिष्कार की बात लॉ बोर्ड ने की है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अजान विवाद: विवेक अग्निहोनी का दावा- मस्जिदों में होती हैं हिंदू विरोधी बातें, टीवी डिबेट पर चला दिया वीडियो
2 आप बोली- द‍िल्‍ली की गंदगी के लिए बीजेपी ज‍िम्‍मेदार, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #BJP_जहाँ_गंदगी_वहाँ
3 राजदीप सरदेसाई ने पूछा- भव्‍य रोड शोज का खर्च कौन देता है? कर्नल ने दागा उल्‍टा सवाल- आपका चैनल भक्ति में डूब कर लाइव क्‍यों द‍िखाता है?
यह पढ़ा क्या?
X