ताज़ा खबर
 

दिल्ली हिंसा: पुलिस ने किसान नेता दर्शन पाल को भेजा नोटिस; कहा- तीन दिन में बताएं क्यों नहीं उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो

पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर लाल किले पर हिंसा को "सबसे निंदनीय और राष्ट्र विरोधी कृत्य" करार देते हुए पाल से तीन दिनों के भीतर अपना जवाब पेश करने को कहा।

farmers violence in delhiमंगलवार को नई दिल्ली के मुकरबा चौक पर दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच झड़प। (फोटो प्रवीण खन्ना इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली पुलिस ने किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर बुधवार को किसान नेता दर्शन पाल को नोटिस जारी कर पूछा कि क्यों नहीं उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर लाल किले पर हिंसा को “सबसे निंदनीय और राष्ट्र विरोधी कृत्य” करार देते हुए पाल से तीन दिनों के भीतर अपना जवाब पेश करने को कहा। दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने आरोप लगाया है कि 26 जनवरी की हिंसा में किसान नेता शामिल थे। उन्होंने कहा कि किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

किसान यूनियनों ने बुधवार को गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के मद्देनजर 1 फरवरी को संसद में अपना प्रस्तावित मार्च रद्द कर दिया है। कहा कि “शहीद दिवस पर, हम किसानों के आंदोलन की ओर से पूरे भारत में सार्वजनिक रैलियां करेंगे। एएनआई ने भारतीय किसान यूनियन (आर) के बलबीर एस राजेवाल के हवाले से बताया कि किसानों ने तय किया है कि वे एक दिन का उपवास भी रखेंगे।

उधर, राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा की घटना के एक दिन बाद, भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने बुधवार को कहा कि कानून-व्यवस्था का उल्लंघन नहीं होना चाहिए तथा केंद्र के साथ साथ विरोध प्रदर्शन करने वाले किसानों को समाधान तक पहुंचने के लिए बातचीत का रास्ता खुला रखना चाहिए।

Live Blog

Highlights

    06:19 (IST)28 Jan 2021
    क्या सरकार किसानों से आगे भी बात करेगी ?

    केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर से बातचीत के दौरान जब मीडिया ने पूछा क्‍या सरकार आगे किसानों के साथ फिर बात करेगी तो उन्‍होंने कोई सीधा जवाब नहीं दिया। जावड़ेकर ने कहा, 'इस बारे में जो भी तय होगा... आपको बताएंगे, पहले कल क्या हुआ इसके बारे में पुलिस बताएगी।

    05:20 (IST)28 Jan 2021
    हिंसा में घायल हुए SHO ने सुनाई आपबीती, कहा-किसानों के पास थे हथियार

    गणतंत्र दिवस पर किसान संगठनों की ओर से निकाली गई ट्रैक्‍टर रैली ने मंगलवार को झड़प का रूप ले लिया था। इसमें 300 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं साथ ही इस घटना को लेकर 22 केस दर्ज किए गए हैं। किसानों ने दिल्‍ली के कई स्‍थानों पर जमकर बवाल काटा और पुलिस से उनकी झड़प हुई।

    04:10 (IST)28 Jan 2021
    सिंघू बॉर्डर पर किसान नेता आज होंगे इकट्ठे, कहा- शांतिपूर्ण ढंग से चलता रहेगा आंदोलन

    गणतंत्र दिवस पर किसान संगठनों की ओर से निकाली गई ट्रैक्‍टर रैली ने मंगलवार को झड़प का रूप ले लिया था। इसमें 86 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक- इस घटना को लेकर 22 केस दर्ज किए गए हैं। सिंघु बॉर्डर पर आज किसान नेता इकट्ठे होंगे।

    03:11 (IST)28 Jan 2021
    हिंसा के लिए अमित शाह जिम्‍मेदार: रणदीप सुरजेवाला

    रणदीप सुरजेवाला ने सवाल किया, 40-50 ट्रैक्टर और हुड़दंगी लाल क़िले में कैसे घुस सकते हैं? दीप संधू इन्‍हें कैसे लीड कर रहा था।  उन्‍होंने कहा कि हिंसा-हुड़दंग को रोक नहीं पाने की ज़िम्मेदारी किसानों की नहीं बल्कि सरकार की है। कांग्रेस प्रवक्‍ता ने कहा, 'किसान आंदोलन को सरकार बलपूर्वक नहीं हटा पायी तो इसे छलपूर्वक हटाने में लगी है।

    01:07 (IST)28 Jan 2021
    कांग्रेस के उकसाने पर दिल्ली में हुई हिंसा

    भारतीय जनता पार्टी ने गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा की भर्त्सना करते हुए कांग्रेस पर किसानों को उकसाने का आरोप लगाया है। पार्टी ने मांग की है कि इसके लिए कांग्रेस और राहुल गांधी को देश के लोगों से माफी मांगी चाहिए। साथ ही जिन लोगों ने किसानों को उकसाया है, उन पर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत लाल किले पर अपने झंडे का अपमान सहन नहीं करेगा।   

    21:11 (IST)27 Jan 2021
    ट्रैक्टर परेड निकालने के दौरान हिंसा और बवाल से किसान संगठनों में फूट

    दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड निकालने के दौरान हिंसा और बवाल से किसान संगठनों में फूट पड़ गई। आंदोलन में पिछले करीब दो महीनों से साथ रहे ये संगठन अब अपने को अलग कर लिए और प्रदर्शन वापस लेने की घोषणा कर दी। केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने बुधवार को आरोप लगाया कि अभिनेता दीप सिद्धू जैसे "असामाजिक" तत्वों ने शांतिपूर्ण आंदोलन को साजिश के तहत "नष्ट"करने की कोशिश की। लेकिन सरकार और नुकसान पहुंचाने वाली ताकतों को यह संघर्ष रोकने नहीं दिया जाएगा। 

    19:26 (IST)27 Jan 2021
    दिल्ली पुलिस ने बताया कि हिंसा के सिलसिले में 200 लोगों को हिरासत में लिया

    दिल्ली पुलिस ने बताया कि हिंसा के सिलसिले में 200 लोगों को हिरासत में लिया। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस ने दिल्ली पुलिस ने आपराधिक साजिश के साथ लाल किले में डकैती का मामला दर्ज किया है। राजधानी के कोतवाली थाने में 10 से ज्यादा विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है।

    16:37 (IST)27 Jan 2021
    अभिनेता दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है: सनी देओल

    भाजपा सांसद सनी देओल ने स्पष्ट किया है कि उनका या उनके परिवार का अभिनेता दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है। सिद्धू दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर पहुंचे प्रदर्शनकारियों में शामिल थे। देओल ने कहा कि उन्होंने पहले भी स्पष्ट किया है कि उनका सिद्धू के साथ कोई संबंध नहीं है। देओल ने मंगलवार रात किए ट्वीट में कहा, “ मैंने छह दिसंबर को ट्विटर के जरिए पहले ही स्पष्ट किया था कि मेरा या मेरे परिवार का दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है। “

    15:15 (IST)27 Jan 2021
    FIR में किन-किन किसान नेताओं का नाम

    दिल्ली पुलिस ने बताया, ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा के खिलाफ दर्ज एफआईआर में कई किसान नेताओं का नाम शामिल है। इनमें नेताओं में दर्शन पाल, राजिंदर सिंह, बलबीर सिंह राजेवाल, बूटा सिंह बुर्जगिल और जोगिंदर सिंह उग्रा के नाम है।  एफआईआर में में बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का भी नाम है। 

    14:29 (IST)27 Jan 2021
    जो भी उत्पात मचाया वह निंदनीय है। मुझे इसमें साजिशों की बू आती है

    किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने कहा, 'जो भी उत्पात मचाया वह निंदनीय है। मुझे इसमें साजिशों की बू आती है। विपक्ष मुद्दा विहीन है. कांग्रेस तो कोई आंदोलन कर नहीं सकती। दूसरे के आंदोलन में हिस्सा लेने की कोशिश करती है। इससे विपक्ष का भला नहीं होने वाला है।'

    13:52 (IST)27 Jan 2021
    जवान से हथियार छीन कर भाग गए प्रदर्शनकारी

    ट्रैक्टर परेड में हिंसा और उत्पात के बीच मंगलवार को समयपुर बादली में जवान शंकर राम की पिस्टल छीनी गई। प्रदर्शनकारियों ने उन्हें घेर लिया था और फिर हथियार छीन कर भाग गए थे। पुलिस ने डकैती का मुकदमा दर्ज किया है।

    13:08 (IST)27 Jan 2021
    हिंसा पर गृह मंत्रालय को रिपोर्ट शाम तक सौंपी जाएगी

    दिल्ली में हिंसा पर गृह मंत्रालय को रिपोर्ट शाम तक सौंपी जानी है। संस्कृति मंत्रालय की नुकसान की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस और एफ़आईआर दर्ज करेगी।  पांच अधिकारियों की टीम रिपोर्ट तैयार कर रही है।  थोड़ी देर पहले संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल के अधिकारियों की टीम ने लाल क़िले का दौरा किया था। 

    12:20 (IST)27 Jan 2021
    कांग्रेस नेता ने देशद्रोह का मामला दर्ज़ करने की मांग की

    पंजाब से कांग्रेस के सांसद रवनीत बिट्टू ने लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराने वालों पर देशद्रोह का मामला दर्ज़ करने की मांग की है। कांग्रेस नेता ने कहा, 'कोई पंधेर, पन्नू और दीप सिद्धू हैं। ये तीन लोग जिन्हें अभी तक पंजाब वालों ने चिन्हित किया है जिन्होंने ये सारा कारनामा किया है। इनको बहुत बड़ी फंडिंग हुई है कि किसानों के आंदोलन को कैसे तबाह करना है। सरकार को ऐसे लोगों को कालकोठरियों में डाल देना चाहिए।'  बिट्टू ने कहा कि दिल्ली में किसानों के ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा के पीछे सिख फॉर जस्टिस संगठन का हाथ है। उन्होंने कहा कि लाल किले पर झंडा फहराने के लिए 1 करोड़ 80 लाख रुपये के इनाम का ऐलान किया गया था।

    11:53 (IST)27 Jan 2021
    शाहनवाज़ हुसैन ने कहा "किसान संगठन का हर नेता सिर्फ भड़काने में लगा था"

    किसानों की हिंसा पर बीजेपी नेता शाहनवाज़ हुसैन ने कहा, "जो शंका थी वो सही साबित हुई। किसान संगठन बड़ी-बड़ी बातें कर रहे थे कि अनुशासन रहेगा कि हम जश्न में शामिल हो रहे हैं। यह जश्न था या गणतंत्र दिवस के दिन भारत पर हमला था? इन्होंने लाल किले को अपवित्र किया है। इस सबके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। उकसाने का काम तो किसान संगठन के नेताओं ने किया। किसान संगठन का हर नेता सिर्फ भड़काने में लगा हुआ था। अब जब ये घटना घट गई तब वे तरह-तरह का ज्ञान दे रहे हैं।"

    11:05 (IST)27 Jan 2021
    सेंट्रल दिल्ली से नई दिल्ली जाने वाले सारे रास्ते बंद

    सेंट्रल दिल्ली से नई दिल्ली जाने वाले सारे रास्ते बंद किए गए हैं। एंट्री प्वांइट्स पर जगह-जगह भयंकर जाम लगा हुआ है। कालिंदी कुंज से नोएडा आने व जाने वाले मार्ग पर 2-2 लेन बंद हैं, जिस कारण भारी ट्रैफिक जाम है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने कहा, मिन्टो रोड से कनॉट प्लेस जाने वाले मार्ग को बंद कर दिया गया है, कृपया इस मार्ग के प्रयोग से बचें। 

    09:35 (IST)27 Jan 2021
    मरने वाले किसान के परिवार को नहीं पता था कि वे दिल्ली में हैं

    किसानों की ओर से निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान हादसे में एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। मरने वाले किसान का नाम नव्रीत सिंह था। अधिकारियों ने बताया कि उनके परिवार को इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि वे राजधानी में मौजूद हैं और आंदोलन का हिस्सा थे। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “कुछ किसान तेज ट्रैक्टर चलाकर हमें मारने की कोशिश कर रहे थे। हमने ट्रैक्टर को बैरिकेड से टकराते हुए देखा। जिसके बाद हमारे कर्मी उसे बचाने गए। लेकिन उत्तेजित किसानों के एक समूह ने उन्हें रोक दिया... ऐसा माना जा रहा है कि उनकी मौत दुर्घटना के कारण हुई है।"

    08:59 (IST)27 Jan 2021
    किसानों की ट्रैक्टर परेड में हिंसा के बाद दिल्ली में और संख्या में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती

    केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई एक उच्चस्तरीय बैठक में यह फैसला लिया गया। इस बैठक में केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, दिल्ली पुलिस आयुक्त एस. एन. श्रीवास्तव सहित अन्य लोगों ने हिस्सा लिया। समझा जाता है कि शाह ने दिल्ली पुलिस को हिंसा में शामिल व्यक्तियों की पहचान करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में संवेदनशील जगहों पर अतिरिक्त संख्या में अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया जाएगा। कितनी संख्या में अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया जा रहा है, इसकी पुख्ता जानकारी नहीं है, लेकिन अधिकारियों का कहना है कि करीब 1,500 से 2,000 कर्मियों (15-20 कंपनियों) को तैनात किया जाएगा। गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर राजधानी में पहले से अर्द्धसैनिक बलों के करीब 4,500 कर्मी तैनात हैं।

    08:20 (IST)27 Jan 2021
    आधी रात कुछ युवाओं ने सिंघू बार्डर के मंच पर किया था कब्जा

    किसान नेताओं के मुताबिक लगभग छह घंटे शाम 6 बजे से आधी रात तक, कुछ युवाओं ने सिंघू बार्डर के मंच को कब्जे में ले लिया और एसकेएम नेताओं और दिल्ली पुलिस द्वारा तय रूट का विरोध करने लगे। उनका यह विरोध प्रदर्शन कुछ पंजाबी वेब चैनलों के अलावा कुछ सोशल मीडिया अकाउंट में भी लाइव वेबकास्ट हुआ है। शुरुआत में कुछ अज्ञात चेहरे स्टेज से यह मांग कर रहे थे कि एसकेएम नेता मंच पर आए और ट्रैक्टर परेड के लिए तय किए गए मार्ग के बारे में उनके सवालों का जवाब दें। 

    05:47 (IST)27 Jan 2021
    टृैक्‍टर परेड का लक्ष्‍य

    गणतंत्र दिवस पर आयोजित किसानों की ट्रैक्टर परेड का लक्ष्य कृषि कानूनों को वापस लेने और फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी की मांग करना था। 

    03:59 (IST)27 Jan 2021
    पुलिस की टीम पर पथराव किया

    काबू में करने की कोशिश की तो उपद्रवी और बेकाबू हुए।. पुलिस की टीम पर पथराव किया ! तब पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने शुरू किए.। 

    02:55 (IST)27 Jan 2021
    हरियाणा के तीन जिलों में इंटरनेट सेवा बंद

    हरियाणा के तीन जिलों सोनीपत, झज्जर और पलवल में बुधवार शाम पांच बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा रोक दी गयी है। दिल्ली में किसानों के ंिहसक प्रदर्शन के बाद हरियाणा सरकार ने मंगलवार शाम इसकी घोषणा की।

    22:03 (IST)26 Jan 2021
    शिवसेना सासंद संजय राउत ने दिल्ली हिंसा को राष्ट्रीय शर्म कहा

    शिवसेना सासंद संजय राउत ने मंगलवार को दिल्ली के ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा की आलोचना करते हुए कहा कि यह राष्ट्रीय शर्म की बात है जिसने नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन को दागदार बना दिया है। सांसद ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में जो भी हुआ उसके लिए केन्द्र को भी जिम्मेदारी लेनी होगी। राउत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि केन्द्र सरकार के अड़ियल रवैये के कारण दिल्ली में हालात बिगड़े हैं और राष्ट्रीय राजधानी में कानून-व्यवस्था ध्वस्त होने के मुद्दे पर उन्हें आत्मावलोकन करने की जरूरत है।

    21:22 (IST)26 Jan 2021
    हरियाणा के तीन जिलों सोनीपत, झज्जर और पलवल में बुधवार शाम पांच बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा पर रोक

    हरियाणा के तीन जिलों सोनीपत, झज्जर और पलवल में बुधवार शाम पांच बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा रोक दी गयी है। दिल्ली में किसानों के हिंसक प्रदर्शन के बाद हरियाणा सरकार ने मंगलवार शाम इसकी घोषणा की। हरियाणा के गृह सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि इन जिलों में शांति और लोक-व्यवस्था की किसी भी प्रकार की गड़बड़ी रोकने के लिए यह आदेश जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है और 27 जनवरी में शाम पांच बजे तक यह लागू रहेगा।

    19:16 (IST)26 Jan 2021
    तमिलनाडु के विपक्षी दलों ने विवादित कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की मांग की

    तमिलनाडु में विपक्षी दलों ने मंगलवार को दिल्ली में किसानों और पुलिस के बीच झड़प पर चिंता प्रकट की और केंद्र से प्रदर्शनकारियों के साथ वार्ता करने का अनुरोध किया। साथ ही, तीनों विवादित कानूनों को वापस लेने की भी मांग की।    

    17:44 (IST)26 Jan 2021
    किसान लालकिले पर पहुंचे, पुलिस के साथ हुई झड़प, आंसू गैस के गोले छोड़े गए

    लाठी-डंडे, राष्ट्रीय ध्वज एवं किसान यूनियनों के झंडे लिये हजारों किसान मंगलवार को गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टरों पर सवार हो बैरियरों को तोड़ व पुलिस से भिड़ते हुए लालकिले की घेराबंदी के लिए विभिन्न सीमा बिंदुओें से राष्ट्रीय राजधानी में दाखिल हुए। लालकिले में किसान ध्वज-स्तंभ पर भी चढ़ गए।

    17:36 (IST)26 Jan 2021
    प्रदर्शनकारियों ने लाल किले पर सिखों का धार्मिक झंडा फहराया

    केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा फहराया गया भगवा ध्वज ‘निशान साहिब’ था। सिख धर्म का यह प्रतीक चिन्ह सभी गुरुद्वारा परिसरों में नजर आता है। तिकोने आकार के ‘निशान साहिब’ ध्वज को सिख बेहद पवित्र मानते हैं। झंडे में दो तलवार, चक्र, दो कृपाण भी दिखते हैं। दूसरा झंडा संभवत: किसान संगठन का था।

    16:22 (IST)26 Jan 2021
    अभी के हालात में किसान नहीं असामाजिक लोग शामिल: हार्दिक पटेल

    किसान प्रदर्शन पर कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा- हिंसा किसी भी आंदोलन का हल नहीं है लेकिन सरकार को शांतिपूर्ण आंदोलन का हल निकालना चाहिए था। किसान पिछले दो महीने से शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे थे, तब किसानों को उल्लू बनाया जा रहा था। अभी के हालात में किसान नहीं असामाजिक लोग शामिल है, क्योंकि सरकार किसानों को बदनाम करना चाहती हैं।

    16:06 (IST)26 Jan 2021
    किसान प्रदर्शन पर राहुल गांधी का ट्वीट

    इसी बीच, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का ट्वीट आया है। उन्होंने कहा है- हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है। चोट किसी को भी लगे, नुक़सान हमारे देश का ही होगा। देशहित के लिए कृषि-विरोधी क़ानून वापस लो!

    16:05 (IST)26 Jan 2021
    नहीं मान रहे किसान! लाल किला की प्राचीर से फहराए अपने झंडे; मचा रहे बवाल

    72वें गणतंत्र दिवस पर मंगलवार को एक ओर राजपथ पर देश के जवान ने पराक्रम और शौर्य का परिचय दिया। वहीं, दूसरी ओर राजधानी के कई इलाके कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के विरोध में पथराव, नारेबाजी, तोड़फोड़ और उत्पात का साक्षी भी बना। तय वक्त और रूट से इतर किसानों ने दिल्ली में एंट्री ली और आईटीओ (जहां पुराने पुलिस मुख्यालय की इमारत है) समेत कई इलाकों में हंगामा काटा। कुछ जगह पर डीटीसी की बसों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया। कुछ किसान तो लाल किला तक जा पहुंचे और वहां पर नारेबाजी की। रोचक बात है कि इस उग्र होते आंदोलन के दौरान बड़े किसान नेता गायब नजर आए। मसलन राकेश टिकैत, कक्का जी और स्वराज अभियान के योगेंद्र यादव। हालांकि, बीच में टिकैत और कक्का जी के बयान आए कि प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से हो रहे हैं, जबकि जमीनी हकीकत इससे बहुत अलग थी।

    15:34 (IST)26 Jan 2021
    लालकिले पर सिपाही का सिर फूटा

    लालकिले पर प्रदर्शनकारियों और पुलिसकर्मियों में टकराव हो गया जिसमें एक सिपाही घायल हो गया।

    15:16 (IST)26 Jan 2021
    शांतिपूर्ण जा रहे लोग: राकेश टिकैत

    हमारे सब लोग शांतिपूर्ण तरीके से जा रहे हैं। जो लोग गड़बड़ फैलाने की कोशिश कर रहे हैं वो चिन्हित हैं। वो राजनीतिक दल के लोग हैं और इस आंदोलन को खराब करना चाहते हैं: राकेश टिकैत, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता 

    Image

    14:40 (IST)26 Jan 2021
    खिलौना या है बस? देखिए क्या किया किसानों ने इसका हाल
    14:30 (IST)26 Jan 2021
    लाल किले की प्राचीर पर जा पहुंचे किसान, मीडिया का कैमरा तोड़ा

    किसानों का जत्था जब लाल किला पहुंचा था, तो वहां कुछ युवा किसान प्राचीर पर जा पहुंचे। एक-दो युवकों ने वहां पर केसरी झंडा फहराया गया। इसी बीच, मीडिया चैनल ABP News का कैमरा तोड़ा गया। इस दौरान कैमरा पर्सन घायल हो गया। माइक छीन कर उपद्रवी भाग निकले। 

    13:52 (IST)26 Jan 2021
    पुलिस पर तलवार से हमले की कोशिश

    दिल्ली में अक्षरधाम मंदिर के पास मंगलवार को ट्रैक्टर परेड के बीच आगे बढ़ते किसानों पर हालात काबू करने के लिए जब टियर गैस छोड़ी गई और लाठी चार्ज किया गया, तो उन्होंने नोएडा मोड़ के पास पुलिस वालों पर तलवारें लहराकर हमले की कोशिश की। यह जानकारी अंग्रेजी समाचार चैनल इंडिया टुडे की रिपोर्ट में दी गई।

    इससे पहले, कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान पर मंगलवार को लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले दागने पड़ी। यह नौबत तब आ गई, जब दिल्ली के कई बॉर्डर्स पर सुबह वक्त से पहले किसान जुट गए थे। कुछ जगहों पर तो वे बैरिकेड्स तोड़ घुस गए और आगे बढ़ते गए। संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर के पास पहुंचे तो वहां पुलिस और किसान आंदोलनकारियों के बीच झड़प भी हुई। इस दौरान टियर गैस भी छोड़ी गई।

    13:24 (IST)26 Jan 2021
    जब किसानों को रोकने के लिए जमीन पर बैठ गए दिल्ली पुलिस के जवान

    दिल्ली में किसान जब आगे बढ़ आए थे, तब पुलिस कर्मचारी उन्हें रोकने के लिए जमीन पर बैठ गए थे। बताया जा रहा है कि किसानों को उन्होंने इस दौरान कहा था कि अगर आगे जाना है, ऊपर से गुजरकर जाना होगा।

    13:22 (IST)26 Jan 2021
    गणतंत्र दिवसः दिल्ली में एक ओर जवान तो दूजी तरफ किसान, ITO पर बड़ा बवाल; पर बोले कक्का जी- ये उपद्रवी नहीं है किसान
    12:42 (IST)26 Jan 2021
    जहां पुलिस मुख्यालय, वहीं पुलिस ने डीटीसी की फूंक दी बस
    12:26 (IST)26 Jan 2021
    किसान आंदोलन में चे ग्वेराः सिंघु बॉर्डर की तस्वीर

    12:24 (IST)26 Jan 2021
    बवाल पर क्या बोले किसान नेता कक्का जी?

    किसानों की ट्रैक्टर रैली से पहले बेकाबू हुए अन्नदाताओं के बारे में जब किसान नेता कक्का जी से हिंदी समाचार चैनल ABP News को बताया- पुलिस की वजह से भ्रम पैदा हुआ। पुलिस ने तय रूट पर बैरिकेडिंग की। घबराने की जरूरत नहीं है। वे शांतिपूर्ण ढंग से रैली निकाल रहे हैं।

    12:17 (IST)26 Jan 2021
    इस तरह काटा गया बवाल
    12:11 (IST)26 Jan 2021
    सिंघु बॉर्डर पर छोड़ी गई टियर गैस
    12:11 (IST)26 Jan 2021
    करनाल बाईपास पर भी तोड़े गए बैरिकेड्स
    12:10 (IST)26 Jan 2021
    दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर भी बैरेकिड्स को गिरा बढ़े आगे
    12:09 (IST)26 Jan 2021
    मुबारका चौक पर ऐसा रहा हाल
    Next Stories
    1 ‘नेता की गोद में बैठ लाठी भांजना आसान है, अर्णब गोस्वामी भी यही करते हैं..’, रवीश कुमार ने Republic TV चीफ पर साधा निशाना
    2 ‘अर्णब गोस्वामी किसी से डरते हैं तो मेरे पास आ जाएं, लेकिन यहां कूदने-फांदने नहीं दूंगा’, रवीश कुमार का वीडियो वायरल
    3 विवेक ओबेरॉय ने पोस्ट की चेतेश्वर और जसप्रीत बुमराह के साथ ब्रेकफास्ट की तस्वीरें, बताया, दुबई एयरपोर्ट पर अचानक हुई मुलाकात; सोशल मीडिया पर आ रहे फनी कमेंट्स
    यह पढ़ा क्या?
    X