ताज़ा खबर
 

वीडियो: डिबेट में TMC नेता ने संबित पात्रा से कहा- ममता बनर्जी देवी हैं, नाम लेने से पहले सिर पर हाथ रखिए

ममता बनर्जी ने एनआरजी जारी होने के बाद केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी सरकार ने बंग्ला बोलने वालों और मुसलमानों को बलि का बकरा बना दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी के मतदाता नहीं होने की वजह से इन लोगों की नागरिकता छीनी जा रही है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फोटो सोर्स- एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

असम में सोमवार यानी 30 जुलाई को एनआरसी का ड्राफ्ट जारी होने के बाद से ही इस मामले पर हर जगह बहस हो रही है। विपक्ष लगातार ही असम में रहने वाले 40 लाख लोगों को ड्राफ्ट लिस्ट में शामिल नहीं करने के मुद्दे पर केंद्र को घेर रहा है। एनआरसी यानी नेशनल रजिस्टर सिटिजंस के इस ड्राफ्ट में 2 करोड़ 89 लाख लोगों को असम का नागरिक बताया गया है, जबकि यहां रहने वाले 40 लाख लोगों का नाम इस लिस्ट में शामिल नहीं है।

लिस्ट जारी होने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा इसका विरोध किया गया, जिसके बाद टीवी से लेकर सोशल मीडिया में इस मामले पर बहस छिड़ गई है। न्यूज़ 18 इंडिया में इस मामले पर टीवी बहस का आयोजन किया गया, जिसमें बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा शामिल हुए और टीएमसी की तरफ से सोमनाथ सिंघा रॉय शामिल हुए। बहस के दौरान संबित पात्रा के किसी जवाब पर सिंघा ने उनका जमकर विरोध किया और ममता बनर्जी को बंगाल की देवी तक कह डाला।

सिंघा ने कहा, ‘आप मेरे भगवान को गाली दे रहे हैं संबित पात्रा जी… बंगाल का जो भगवान है आप उसको गाली दे रहे हैं… वो देवी हैं, आप उन्हें गाली दे रहे हैं… ममता बनर्जी बंगाल की ही नहीं बल्कि भारत का जो पीड़ित आदमी है उसके लिए भगवान हैं। ममता बनर्जी का नाम लेने से पहले आप अपने सिर पर हाथ रखिए।’ सिंघा की इस बात पर पहले तो पात्रा यह नहीं समझ पाए कि आखिर वह भगवान किसे कह रहे हैं, जब कुछ देर बाद पात्रा को सिंघा की बात समझ में आई तब उनका रिएक्शन देखने लायक था। उन्होंने अपने मुंह पर हाथ रखकर कहा, ‘सॉरी… सॉरी… सॉरी, छोटे भगवान अब मुझे बोलने दो।’

बता दें कि ममता बनर्जी ने एनआरसी का ड्राफ्ट जारी होने के बाद केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी सरकार ने बंग्ला बोलने वालों और मुसलमानों को बलि का बकरा बना दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी के मतदाता नहीं होने की वजह से इन लोगों की नागरिकता छीनी जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि देश में अब गृह युद्ध जैसे हालात बन गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App