ताज़ा खबर
 

मंडप की तरह सजा ट्रेन का कोच, यूं हुई प्रेमी जोड़े की शादी

इलाहाबाद के रहने वाले सचिन और ज्योत्सना पहला जोड़ा है, जिसकी शादी किसी ट्रेन में सफर के बीच हुई। शादी की रस्म के दौरान दोनों पारंपरिक परिधान में थे। दोनों ने पहले एक-दूसरे को वरमाला पहनाया। फिर रविशंकर ने कुछ मंत्र पढ़ कर दोनों को वचन पढ़वाए।

चलती ट्रेन में इस जोड़े ने 28 फरवरी को शादी रचाई, जिसमें श्रीश्री रविशंकर भी मौजूद रहे। (फोटोः टि्वटर)

ट्रेन के भीतर क्या आपने शादी होते देखी है? अगर नहीं तो बुधवार (28 फरवरी) को उत्तर प्रदेश में कुछ ऐसा ही हुआ। यहां पर ट्रेन में सफर करने के दौरान एक जोड़े ने शादी की। ट्रेन का कोच इस दौरान मंडप जैसा सजाया गया था। शादी में हिस्सा लेने मुख्य अतिथि के तौर पर श्रीश्री रविशंकर भी पहुंचे। आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक ने इस दौरान नए नवेले जोड़े को आशीर्वाद दिया। यह घटना सूबे के गोखरपुर से लखनऊ के बीच चलने वाली ट्रेन में हुई। इलाहाबाद के रहने वाले सचिन और ज्योत्सना पहला जोड़ा है, जिसकी शादी किसी ट्रेन में सफर के बीच हुई। शादी की रस्म के दौरान दोनों पारंपरिक परिधान में थे। दोनों ने पहले एक-दूसरे को वरमाला पहनाया। फिर रविशंकर ने कुछ मंत्र पढ़ कर दोनों को वचन पढ़वाए। आगे दोनों ने जिंदगी साथ बिताने की कस्में खाईं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भारत में इस तरह की यह पहली शादी बताई जा रही है। रोचक बात है कि पिछले साल कर्नाटक पर्यटन विकास निगम ने सभी के लिए ट्रेन यात्रा में शादी का सपना पूरा करने के लिए खास सेवा शुरू की थी।

अश्विन नाम के टि्वटर अकाउंट से 28 फरवरी को इस बारे में एक ट्वीट किया गया। लिखा था, “प्रिय पीयूष गोयल जी, इलाहाबाद के रहने वाले सचिन और ज्योत्सना ने स्पेशल ट्रेन अनुग्रह यात्रा में शादी की। आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर का इस दौरान उन्हें आशीर्वाद हासिल हुआ। नए नवेले जोड़ ने इस बड़े दिन का जश्न मनाने के लिए भारतीय रेल को चुना।”

अश्विन ने इसी के साथ शादी के दौरान की तीन तस्वीरें भी अपलोड की थीं। तस्वीरों में सचिन और ज्योत्सना शादी की रस्म पूरी होने के बाद पोज देते नजर आ रहे थे। एक फोटो में श्रीश्री उन्हें आशीर्वाद भी देते दिख रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App