ताज़ा खबर
 

VIDEO: महिलाओं को रेप से बचाएगा ये सेंसर, ऐसे करेगा काम

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कपड़ों में चिपकाया जाने वाला एक सेंसर दिखाया जा रहा है। इस सेंसर को लेकर दावा किया जा रहा है कि यह महिलाओं को यौन हमलों से बचाने में कारगर साबित हो सकता है।

वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कपड़ों में चिपकाया जाने वाला एक सेंसर दिखाया जा रहा है। इस सेंसर को लेकर दावा किया जा रहा है कि यह महिलाओं को यौन हमलों से बचाने में कारगर साबित हो सकता है। सेंसर को मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की भारतीय शोधार्थी मनीषा मोहन ने बनाया है। वीडियो में दी गई जानकारी के मुताबिक इस सेंसर को महिलाओं के किसी भी प्रकार के अंतर्वस्त्रों में चिपकाया जा सकता है। यह दो तरीकों एक्टिव और पेसिव मोड में काम करता है। यौैन हमले के दौरान महिला अगर होशोहवास में तो पेसिव मोड काम करेगा। महिला इसके साथ कनेक्ट एक बटन दबाकर अपने करीबियों को अलर्ट और अपनी जियो लोकेशन भेज सकती है। क्योंकि यह सेंसर महिला के स्मार्टफोन से कनेक्ट होता है। इसके लिए फोन में एक खास एप डाउनलोड करना पड़ता है और उसमें पांच ऐसे लोगों के फोन नंबर एड करने होते हैं जो जरूरत में हर समय साथ दे सकें। इस सेंसर के द्वारा उन्हीं पांच लोगों के पास अलर्ट जाता है।

एक्टिव मोड महिला की अचेत अवस्था में काम करता है। मसलन, अगर महिला को किसी तरह से नशीली खुराक देकर उस पर यौन हमला किया जाता है तो सेंसर इसके एक्टिव मोड में आ जाता है। जिस कपड़े में सेंसर चिपका होता है, उस कपड़े को जबरन खींचे या उतारे जाने पर महिला के स्मार्टफोन पर एक मैसेज पहुंचता है, जिसमें पूछा जाता है कि उसके साथ जो कुछ हो रहा है, वह सहमति से है या असहमि से। 30 सेकेंड में जवाब दर्ज न होने पर फोन से तेज आवाज में अलार्म बजने लगता है ताकि आस-पास के लोगों तक अलर्ट पहुंच जाए। अगर फिर भी महिला को कोई मदद नहीं मिलती है तो उन पांच लोगों के पास पीड़िता की जियो लोकेशन के साथ मैसेज पहुंच जाता है, जिनके फोन नंबर पहले से एप में एड किए जा चुके होते हैं।

मनीषा मोहन के मुताबिक यह सेंसर खास हाइड्रोजेल तकनीक से बनाया गया है, जिससे कि यह आसानी से हटाया और धोया भी जा सकता है। यह सेंसर करीब साल भर पहले ही तैयार हो गया था, लेकिन अब एक बार फिर वीडियो वायरल हो रहा है। मनीषा मोहन का दावा है कि इस सेंसर के जरिये महिलाओं पर होने वाले यौन हमलों को उसी समय रोके जाने में मदद मिलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App