ताज़ा खबर
 

सूरत में 9 साल की बच्‍ची से रेप के बाद जघन्‍य हत्‍या, भड़की सानिया मिर्जा बोलीं- इन जानवरों को फांसी पर लटका दो

6 अप्रैल को बच्ची का शव पुलिस को मिला था। पांडेसरा पुलिस थाने के पुलिस अधिकारी ने बताया कि फिलहाल बच्ची की पहचान नहीं हो पाई लेकिन उसकी पहचान के लिए सोशल मीडिया की मदद ली जा रही है।

भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा। (पीटीआई फोटो)

कठुआ गैंगरेप के बाद सूरत में 11 साल की बच्ची के साथ हुई हैवानियत पर टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने एक बार फिर से गुस्सा जाहिर किया है। अपने ट्विटर हैंडल पर आक्रोश व्यक्त करते हुए सानिया मिर्जा ने लिखा, “सीरियसली? मतलब इन लोगों को परेशानी क्या है? इस पर चर्चा करने की आवश्यकता है और बंद करो अभी। जो हमारे बच्चों के साथ ऐसे अपराध को अंजाम दे रहे हैं ऐसे जानवरों को फांसी पर लटका दो।” बता दें कि इससे पहले कठुआ गैंगरेप को लेकर सानिया मिर्जा ने लिखा था, “क्या ये वही देश है जिसके लिए हम जाने जाते हैं, और जाने जाना चाहते हैं? अगर हम उस 8 साल की बच्ची के लिए खड़े नहीं हो सकते, तो हमें और किसी भी चीज के लिए खड़े होने का हक नहीं है। इंसानियत के लिए भी नहीं।”

बता दें कि 11 वर्षीय बच्ची का शव सूरत के भेस्तान इलाके से बरामद किया गया था। बच्ची के शव पर 86 चोट के निशान थे, जिन्हें लेकर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि बच्ची को बंदी बनाकर रखा गया था। उसे काफी प्रताड़ित किया गया और रेप की भी आशंका जताई गई है। 6 अप्रैल को बच्ची का शव पुलिस को मिला था। पांडेसरा पुलिस थाने के पुलिस अधिकारी ने बताया कि फिलहाल बच्ची की पहचान नहीं हो पाई लेकिन उसकी पहचान के लिए सोशल मीडिया की मदद ली जा रही है।

 

अधिकारी ने बताया कि व्हाट्सऐप जैसे मीडिया प्लैटफॉर्म पर बच्ची की फोटो शेयर की जा रही है। आशा करते हैं कि जल्द ही बच्ची की पहचान कर ली जाएगी। बच्ची के शव का पोस्टमार्टम करने वाले सिविल अस्पताल के डॉक्टर गणेश गोवेकर ने बताया कि बच्ची के शरीर पर 86 चोट के निशान मिले हैं। डॉक्टर का कहना है कि इन चोट के निशान को देखकर ऐसा लगता है कि ये निशान एक दिन से लेकर 7 दिन पुराने हैं। फिलहाल यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि बच्ची के साथ रेप हुआ है या नहीं लेकिन आशंका जताई जा रही है कि बच्ची के साथ यौन शोषण जैसे जघन्य अपराध को भी अंजाम दिया गया हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App