scorecardresearch

मुहर्रम पर तेज प्रताप यादव ने दे दी बधाई, लोग बोले- ‘ये ईद नहीं है जो बधाई दे रहे हो, मातम मनाया जाता है’

तेज प्रताप यादव ने मुहर्रम के अवसर पर अवसर पर लोगों को बधाई दे दी ।

मुहर्रम पर तेज प्रताप यादव ने दे दी बधाई, लोग बोले- ‘ये ईद नहीं है जो बधाई दे रहे हो, मातम मनाया जाता है’
तेज प्रताप यादव अक्सर अपने बयानों की वजह से चर्चा में बने रहते हैं(फोटो सोर्स: PTI)।

बिहार में राजनीतिक उठापटक के बीच अब नीतीश कुमार ने बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़ दिया है। तेजस्वी के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया है। दिन भर चले इस राजनीतिक घटनाक्रम के बीच जब तेज प्रताप यादव से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने मुहर्रम की बधाई दे डाली! सोशल मीडिया पर लोग तेज प्रताप यादव को ट्रोल करने लगे।

मुहर्रम पर बधाई दे गए तेज प्रताप यादव

तेज प्रताप यादव ने कहा कि “देश भर के सभी मुस्लिम भाइयों को मुहर्रम की बधाई।” अब लोगों का कहना है कि मुहर्रम में मातम मनाया जाता है और तेजप्रताप यादव यहां बधाई दे रहे हैं। इसको लेकर लोग सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। 

लोगों की प्रतिक्रियाएं

पत्रकार युसूफ जमील ने लिखा कि ‘उन्हें बताएं कि हम इस अवसर पर दुख साझा करते हैं, मुहर्रम की बधाई ना दें। 10वीं मुहर्रम पर, हम मुसलमान 680 ई. में कर्बला (इराक) की लड़ाई में पैगंबर मुहम्मद के पोते इमाम हुसैन और उनके 72 परिवार के सदस्यों और साथियों की शहादत को याद करते हैं।’ एक यूजर ने लिखा कि ‘हद्द है भाई, ये ईद नहीं है जो बधाई दे रहो’

देखिए वीडियो

लोगों की प्रतिक्रियाएं

बीजेपी नेता दिनेश चौधरी ने लिखा कि ‘मुहर्रम पर भला कौन बधाई देता है भाई, “मातम मनाओ मातम”।’ आयुष सक्सेना ने लिखा कि ‘इनको वोट चाहिए मुस्लिम भाईयों का, जो पार्टी ये नहीं जानती कि कब उत्सव मनाया जाता है और कब दुःख मनाया जाता है, उनको वोट चाहिए और दुख की बात ये है कि उनको वोट मिलता भी है, कोर वोट बैंक बन चुके हैं अब उनके लिए।’

प्रणव राठी नाम के यूजर ने लिखा कि ‘इधर मीडिया को लगा कि कुछ मसाला देंगे लेकिन उधर तेज प्रताप भैया तो मुहर्रम की बधाई देकर चलते बने।’ सर्वेश पाण्डेय ने लिखा कि ‘मातम होता है इस दिन, लगता है गलती से आप मिस्टेक कर दिए हैं!’ प्रभात चंद्र नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ये नेता हैं मुस्लिम समाज के, जिन्हें मुहर्रम में बधाई नहीं देते ये भी नहीं पता।’

बता दें कि मुहर्रम के दिन शिया समुदाय के लोग मातम/दुःख मनाते हैं, मजलिस पढ़ते हैं और काले रंग के कपड़े पहनकर शोक व्यक्त करते हैं। इतना ही नहीं, लोग भूखे-प्यासे रहकर भी शोक व्यक्त करते हैं। तेजप्रताप यादव ने इस मौके पर बधाई दो तो लोगों को यह पसंद नहीं आया।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट