ताज़ा खबर
 

इमाम बुखारी ने कश्‍मीर पर मांगी नवाज शरीफ से मदद, मौलाना अतहर देहलवी ने कहा- मत कीज‍िए देश के खिलाफ काम

देश के आंतरिक मसले पर सीधे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चिट्ठी लिख देना कई लोगों के गले नहीं उतर रहा। कई मुस्लिम धर्मगुरू ही उनके इस काम से सहमत नहीं नजर आ रहे हैं।

जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी। (पीटीआई फाइल फोटो)

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से कश्मीर पर हालात सुधारने के लिए मदद मांगी है। उन्होंने पत्र लिखकर नवाज शरीफ से कश्मीर में शांति लाने के लिए हुर्रियत से बात करने के कहा है। लेकिन उनका ये पत्र विवाद का विषय बन गया है। इस तरह देश के आंतरिक मसले पर सीधे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चिट्ठी लिख देना कई लोगों के गले नहीं उतर रहा। कई मुस्लिम धर्मगुरू ही उनके इस काम से सहमत नहीं नजर आ रहे हैं। टीवी चैनलों पर होने वाली बहसों में शामिल होने वाले मौलाना सय्यदत अतहर देहल्वी ने ट्वीट करके शाही इमाम की मदद मांगने का विरोध किया है। मौलाना ने ट्वीट करके पाकिस्तान की प्रधानमंत्री से वार्ता या अन्य किसी देश के मध्यस्थता को भारत की संप्रभुता के खिलाफ बताया है।

 

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24990 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback
  • Micromax Vdeo 2 4G
    ₹ 4650 MRP ₹ 5499 -15%
    ₹465 Cashback

 
इसे पहले बुखारी ने नवाज को लिख पत्र में लिखा है कि, ‘कश्मीर के हालात दिनोंदिन खराब होते जा रहे हैं और इससे दोनों देशों (भारत-पाकिस्तान) के बीच तनाव भी बढ़ता जा रहा है। मुझे लगता है कि शांति के लिए माहौल तैयार करने में हो रही देरी कश्मीर के समाधान के मुद्दे को और जटिल बनाएगी।’  इमाम ने आगे कहा, ‘हमें तबाही और बर्बादी से कश्मीर को बचाने का प्रयास करना चाहिए. कश्मीर में शांति के लिए रास्ता बनना चाहिए. कश्मीर के लोग आतंक के माहौल में जी रहे हैं और उनके सपने टूट रहे हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App