ताज़ा खबर
 

योगेंद्र यादव ने ट्वीट की ईद का चांद दिखाते भगवान कृष्‍ण की पेंटिंग, जमकर हुए ट्रोल

एक यूजर ने अपनी राय देते हुए ट्विटर पर लिखा, "आप का इतिहास का ज्ञान बहुत कमजोर है, इसलिए केजरीवाल जी ने आपको पार्टी से बाहर निकाल दिया।" एक यूजर ने लिखा, "ये देखो नया राहुल गांधी, इनको कोई बताओ इस्लाम का जन्म कब हुआ है।"

स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव (Express photo by Renuka Puri 21 November 2017)

ईद के मौके पर लोगों ने अलग अलग तरीकों से बधाई दी है। पूर्व आप नेता और स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव ने भी लोगों को ईद मुबारक कहा है। योगेन्द्र यादव ने ईद की बधाईयां देने के लिए भागवान कृष्ण की एक पेंटिंग को ट्वीट किया है। इसके लिए उन्हें ट्विटर पर जमकर ट्रोल किया जा रहा है। इस ट्वीट में भगवान कृष्ण मुस्लिम सुमदाय के लोगों को ईद का चांद दिखा रहे हैं। योगेन्द्र यादव ने लिखा, “ईद मुबारक, 18वीं शताब्दी की राजस्थान पेंटिंग की एक कलाकृति को फिर से छोटे आकार में प्रस्तुत किया गया है, इसमें भगवान कृष्ण ईद का चांद को देख रहे हैं, इसके बाद वे इसे मुस्लिम मर्द और औरतों के एक समूह को दिखा रहे हैं। आइए इस ईद को हम ठानें कि भारत की जैसी भावना इस तस्वीर में दिखाई गई है वैसी ही भावना हम फिर से बनाएंगे।”

योगेन्द्र यादव के इस ट्वीट पर कुछ लोगों ने तो उन्हें शाबासी दी, तो कुछ लोगों ने उन पर सवाल खड़े किये। एक यूजर ने इस तस्वीर की सत्यता पर सवाल उठाते हुए लिखा, “ये तस्वीर उतनी ही सच्ची है जितना कि उनका कथित ओपिनियन पोल और एग्जिट पोल।” एक यूजर ने अपनी राय देते हुए ट्विटर पर लिखा, “आप का इतिहास का ज्ञान बहुत कमजोर है, इसलिए केजरीवाल जी ने आपको पार्टी से बाहर निकाल दिया।” एक यूजर ने लिखा, “ये देखो नया राहुल गांधी, इनको कोई बताओ इस्लाम का जन्म कब हुआ है।”

एक यूजर ने साहित्यकार जॉर्ज ऑरवेल का जिक्र करते हुए लिखा, “कुछ विचार इतने बेवकुफाना होते हैं कि उन पर सिर्फ बौद्धिक ही यकीन करते हैं।” एक यूजर ने कहा कि, “ये अर्थहीन तस्वीर है, जब पांच हजार साल पहले कृष्ण का जन्म हुआ था तो इस्लाम धर्म था ही नहीं।” एक यूजर ने लिखा, “ऐसी ही हरकतों के कारण केजरीवाल ने पूरे इज्जत के साथ आपको बाहर निकाला था। अपनी नहीं तो कम से कम बाकी लोगों के आस्था का ख्याल रखें। ईद मुबारक बोलिए, उसमें झूठी पिक्चर डाल के अपना प्रोपोगेंडा काहे घुसेड़ रहे हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App