लोगों का जीवन भी अपने हिसाब से चलाना चाहते हैं ‘प्रचारजीवी’ – बोले पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह, वैक्सीनेशन प्रक्रिया पर यूं कसा तंज

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मंगलवार को 52.8 लाख डोज दी गई। इसी पर तंज कसते हुए रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने कहा कि लोगों का जीवन भी अपने हिसाब से चलाना चाहते हैं ‘प्रचारजीवी’।

Corona Vaccine, Health Minister
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स – पीटीआई )

पिछले सोमवार को देशभर में 88 लाख से ज्यादा लोगों का टीकाकरण हुआ था। लेकिन उसके 1 दिन बाद ही वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी हो गई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मंगलवार को 52.8 लाख डोज दी गई। इसी पर तंज कसते हुए रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने कहा कि लोगों का जीवन भी अपने हिसाब से चलाना चाहते हैं ‘प्रचारजीवी’।

उन्होंने वैक्सीनेशन रफ्तार धीमी होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया कि 10 दिन तब वैक्सीनेशन प्रक्रिया बिल्कुल धीमा कर दो, फिर एक दिन इन्वेंट बनाकर ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन लगाकर रिकॉर्ड बनाने का दावा करो। उन्होंने चुप रहने की सलाह देते हुए कहा कि, ‘ खैर चुप रहिए, क्या पता इसमें भी कहीं राष्ट्रवाद छिपा हो’।

उनके इस ट्वीट पर लोग अपनी प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं। @VijayKu51290600 टि्वटर आईडी से सरकार को इवेंट कंपनी बताते हुए कमेंट किया गया कि यह सरकार नहीं है। यह इवेंट कंपनी है। जो अवसर पाकर अपनी इनकम बढ़ाती है और जनता को बेवकूफ बनाती है। वहीं एक यूजर ने उनकी बात का समर्थन करते हुए लिखा कि बिल्कुल छिपा है, किंतु दिखेगा सिर्फ भक्तों को।

@Sanjeevthesky1 टि्वटर अकाउंट से इस ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा गया कि अरे सर, यही तो माइंड गेम है वह चेंज करने का… लोगों को बहकाने का। एक यूजर ने रिप्लाई करते हुए लिखा कि चाय वाला चौकीदार अब खुद को भगवान समझने लगा है, और इसका पूरा श्रेय देश क़े उन लोगों को जाता है जो सब कुछ देख कर आज भी चुप बैठे हैं।

वहीं @dr_ramsharma टि्वटर अकाउंट से वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए लिखा कि, ‘और, आप तीन महीनों तक लोगों में भ्रम फैलाओ की वैक्सीन नहीं लगवाओ, और फिर एक दिन सरकार को बोलने लगो की वैक्सीनेशन नहीं हो रहा है’।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट