scorecardresearch

असदुद्दीन ओवैसी कहते हैं कि कयामत तक रहेगी मस्जिद? एंकर के इस सवाल पर सुब्रमण्यम स्वामी बोले – दिखाएं कुरान में कहां लिखा है

बीजेपी नेता ने टीवी इंटरव्यू के दौरान AIMIM प्रमुख द्वारा दिए गए बयान पर कहा कि वह मेरे सामने कुछ नहीं बोलेगा।

Russia -Ukraine conflict, BJP MP, subramanian swamy, America, joe biden
बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी (Express Photo)

ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का कहना है कि बाबरी मस्जिद शहीद होने के बाद वह अब एक और मस्जिद शहीद नहीं होने देंगे। वह इस मुद्दे को लेकर लगातार केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इसी विषय पर एक टीवी चैनल पर चर्चा कर रहे बीजेपी सुब्रमण्यम ओवैसी पर हमला बोला।

एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान एंकर द्वारा सुब्रमण्यम स्वामी से पूछा गया कि असदुद्दीन ओवैसी कह रहे हैं कि कयामत तक मस्जिद ही रहेगी? इस पर आपकी प्रतिक्रिया क्या होगी? इस सवाल पर हंसते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, ‘ वह बताएं कुरान में कहां लिखा गया है, दूसरे देशों में भी तो मस्जिद तोड़ी जाती है।’

उन्होंने आगे कहा कि पूरी दुनिया में मुसलमानों के लिए केवल तीन पुनीत जगह है। जिसे कोई तोड़ नहीं सकता, बाकी कहीं की भी मस्जिद तोड़ी जा सकती है। इसके साथ उन्होंने दावा किया कि सऊदी अरब के लोगों से अगर पूछा जाए कि मस्जिद हटाया जा सकता है तो इसके जवाब में वह कहेंगे कि बिल्कुल हटाया जा सकता है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए पुराने फैसले का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे उच्च न्यायालय ने भी कहा है कि मस्जिद हटाई जा सकती है।

उन्होंने यह भी कहा कि नमाज पढ़ने के लिए किसी विशेष जगह की आवश्यकता नहीं होती है। वहीं ओवैसी को लेकर एक दूसरा सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि वह मेरे सामने कभी नहीं बोलेगा। स्वामी ने कहा कि हमें इस विवाद में पड़ने से बेहतर है कि 1991 Act को ही पार्लियामेंट द्वारा खत्म कर दिया जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर यह पुरातत्व विभाग के पास चली जाएगी तो ना हम पूजा कर पाएंगे और ना ही दूसरे धर्म के लोग नमाज पढ़ पाएंगे।

उन्होंने कहा कि शिव भगवान की कल्पना के अनुसार जो मंदिर बना है उसे हमें वापस लाना है। एंकर ने इसके जवाब में सवाल किया कि 1991 एक्ट हटाए जाने के बाद कई तरह के विवाद सामने आ जाएंगे। सुब्रमण्यम स्वामी ने इसके जवाब में कहा, ‘इस तरह से अंग्रेज भी हमें डराते थे कि वह अगर देश छोड़कर चले जाएंगे तो सब कुछ बर्बाद हो जाएगा।’ उनकी ओर से कहा गया कि अयोध्या, मथुरा और काशी के अलावा हमें किसी और मंदिर के लिए बात नहीं करनी है।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.