srilanka communal violence ravichandra ashwin tweet - श्रीलंका में हिंसा पर रविचंद्रन अश्विन ने किया ट्वीट, लोग अलग बहस में पड़ गए - Jansatta
ताज़ा खबर
 

श्रीलंका में हिंसा पर रविचंद्रन अश्विन ने किया ट्वीट, लोग अलग बहस में पड़ गए

भारतीय क्रिकेटर आर. अश्विन ने ट्वीट कर श्रीलंका में जारी हिंसा पर अपने विचार रखे हैं। अश्विन ने कहा कि श्रीलंका में जो भी हो रहा है, वह दुखी करने वाला है और वह सब कुछ सामान्य होने के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

अश्विन ने कहा कि ‘श्रीलंका में जो भी हो रहा है, वह दुखी करने वाला है। इतना सुंदर देश और उसके अच्छे लोग, उन्हें यकीन है कि अलग-अलग मतों के लोगों के बीच जारी यह झगड़ा जल्द खत्म होगा। (image source-BCCI)

श्रीलंका इन दिनों हिंसा की चपेट में है और देश में आपातकाल लगा हुआ है। ऐसे हालात में आम लोगों के साथ-साथ क्रिकेटर्स और सेलिब्रिटीज भी इस मुद्दे पर अपनी राय जाहिर कर रहे हैं। भारतीय क्रिकेटर आर. अश्विन ने भी ट्वीट कर श्रीलंका में जारी हिंसा पर अपने विचार रखे हैं। अश्विन ने कहा है, “श्रीलंका में जो भी हो रहा है, वह दुखी करने वाला है। इतना सुंदर देश और उसके अच्छे लोग, उन्हें यकीन है कि अलग-अलग मतों के लोगों के बीच जारी यह झगड़ा जल्द खत्म होगा। जियो और जीने दो। ये अहम है कि विरोध को स्वीकार करके आगे बढ़ा जाए। जल्द ही सब सामान्य हो, इसके लिए प्रार्थना।”

हैरानी की बात रही कि अश्विन ने श्रीलंका में जारी ताजा हिंसा पर ट्वीट किया था, लेकिन लोग श्रीलंका में हुए तमिल वॉर में उलझ गए। इस दौरान कुछ लोग तमिलों को समर्थन देते नजर आए, तो वहीं कुछ तमिलों पर आरोप लगाते भी दिखे। कुछ यूजर्स अश्विन के नजरिए से सहमत दिखाई दिए और उन्होंने अश्विन की तारीफ की। बता दें कि श्रीलंका में लिट्टे के नेतृत्व में करीब 25 सालों तक गृहयुद्ध चला है, जो अब लिट्टे के सफाए के बाद खत्म हो गया है। फिलहाल, श्रीलंका में बहुसंख्यक बौद्धों और अल्पसंख्यक मुसलमानों के बीच झगड़े हो रहे हैं। झगड़े की शुरुआत कुछ मुस्लिम युवाओं द्वारा एक बौद्ध की हत्या से हुई। इसके बाद देखते ही देखते ये झगड़े पूरे देश में फैल गए। हालात बिगड़ता देख श्रीलंकाई सरकार ने पूरे देश में 10 दिनों का आपातकाल लगा दिया है। 10 दिनों के बाद समीक्षा कर आगे आपातकाल लगाया जाए  या फिर हटाया जाए, इस पर सरकार फैसला करेगी।

अश्विन से पहले श्रीलंका के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज महेला जयवर्द्धने भी हिंसा पर ट्वीट कर चुके हैं। जयवर्द्धने ने अपने ट्वीट में कहा कि मैं हिंसक घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं। इसमें शामिल प्रत्येक व्यक्ति को न्याय के कटघरे में लाना चाहिए, फिर चाहे वो किसी भी जाति, धर्म, संप्रदाय का क्यों ना हो। मैं ऐसे समय मे पला-बढ़ा, जब देश सिविल वॉर के दौर से गुजर रहा था। मैं नहीं चाहता कि आने वाली पीढ़ी भी वैसे ही हालात से गुजरे। इन दिनों भारतीय क्रिकेट टीम भी त्रिकोणीय टी20 सीरीज खेलने के लिए श्रीलंका में मौजूद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App