ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद बोले- मंदिरों में पड़ी संपत्ति किस काम की? बेच दी जाए, लोगों ने जमकर भेजी लानत

लोग झल्लाते हुए सांसद को टैग कर पूछने लगे, "आप मस्जिदों और गिरजाघरों की संपत्तियों के बारे में भी अपने विचार साझा करें।" वहीं, कुछ ने उन्हें हिंदू विरोधी बताते हिदायत दे डाली कि वह अपनी जमीन-जायदाद भारतीय सेना के कोष में दे दें।

बीजेपी सांसद उदित राज। (एक्सप्रेस फोटोः अमित मेहरा)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद डॉ.उदित राज ने पूछा है कि मंदिरों में पड़ी संपत्ति किस काम की है? सलाह देते हुए वह आगे बोले कि उसे बेच दिया जाना चाहिए। सोशल मीडिया पर उनकी इसी टिप्पणी पर लोगों ने उन्हें लानत भेजना शुरू कर दिया। लोग झल्लाते हुए सांसद को टैग कर पूछने लगे, “आप मस्जिदों और गिरजाघरों की संपत्तियों के बारे में भी अपने विचार साझा करें।” वहीं, कुछ ने उन्हें हिंदू विरोधी बताते हिदायत दे डाली कि सांसद अपनी जमीन-जायदाद भारतीय सेना के कोष में दे दें।

हुआ यूं कि सांसद ने मंगलवार शाम एक ट्वीट किया था। उन्होंने इसमें लिखा, “केरल के पद्मनाभ, सबरीमाल और गुरुवायुर मंदिरों के सोने और संपत्ति को बेच दिया जाए तो बाढ़ की मार से निकलने के लिए 21 हजार करोड़ से पांच गुणा ज्यादा रकम जुटेगी। जनता को सड़कों पर निकल कर इसके लिए मांग करनी चाहिए। मंदिरों में पड़ी हुई संपत्ति किस काम की है?”

यह है उदित राज का ट्वीट-

Udit Raj, Member of Parliament, BJP, Tweet, Temples, Property, Sell, Kerala, Padmanabhaswamy Temple, Thiruvananthapuram, Sabarimala Temple, Pathanamthitta, Guruvayur Temple, Rupees, Gold, Money, Help, Kerala, Floods, Advice, Troll, Social Media, Users, India News, Trending News, Hindi News

बीजेपी सांसद के इस ट्वीट पर जैसे ही यूजर्स की नजर पड़ी। उनमें से कई भड़क उठे और सांसद को टैग कर जवाब देने लगे। फिर क्या था, सांसद का ट्वीट तेजी से वायरल होने लगा और लोग उस पर तीखे और तेवरदार कमेंट्स करने लगे। खुद ही देखिए लोगों ने कैसे उन्हें लानतें भेजीं-

राज, उत्तरी पश्चिमी दिल्ली से लोकसभा सांसद हैं। वह इसके अलावा ऑल इंडिया कनफेडरेशन ऑफ एससी/एसटी ऑर्गनाइजेशंस के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। उनकी हालिया टिप्पणी केरल में बीते दिनों आई भीषण बाढ़ के राहत और बचाव कार्य को लेकर आई। आपको बता दें कि केरल में आए कुदरत के उस कहर के कारण तकरीबन 400 लोगों की जान चली गई थी, जबकि तीन लाख से अधिक लोग बेघर हो गए थे।

हालांकि, राज्य में धीरे-धीरे बाढ़ का पानी निकल रहा है, जिससे होने वाले  नुकसान के बारे में भी पता चल रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बाढ़ के दौरान थिस्सूर में एक कार शोरूम की लगभग 357 गाड़ियां वहां अधिक पानी भर जाने से बेकार हो गईं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App