scorecardresearch

वायरल सोनू से उलझते हुए पत्रकार पर फूटा सोशल मीडिया का गुस्सा, लोग बोले – पहले तो इसको स्कूल भेजकर शिष्टाचार सिखाया..

इस वीडियो को लेकर सोशल मीडिया पर लोग कई तरह की प्रतिक्रिया देते नजर आ रहे हैं।

Viral Boy| Viral News| Viral News Hindi|
सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। (फोटो सोर्स – बाल वीडियो का स्नैपग्रैब)

बिहार से हाल में ही सोनू नाम के एक बच्चे का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। इस वीडियो में बच्चा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ ने हाथ जोड़कर पढ़ाई के लिए मदद मांगते हुए नजर आया था। अब एक बार फिर से इस बच्चे का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक पत्रकार बच्चे से उलझ रहा है। जिस पर सोशल मीडिया यूजर्स भड़क गए।

वायरल वीडियो में क्या है? : वीडियो में पत्रकार बच्चे से चिल्लाते हुए सवाल कर रहे हैं कि तुम सैनिक स्कूल में पढ़ने के लिए कहने गए थे या फिर प्राइवेट स्कूल में? बच्चा गुस्से में जवाब देने लगता है तो पत्रकार द्वारा कहा जाता है, ‘उसी स्कूल में पढ़ने से तुम आईएस नहीं बन जाओगे। आईएएस बनने के लिए सिर्फ सैनिक स्कूल में नहीं पढ़ा जाता है।’ इस बीच पत्रकार और बच्चे में बहस होने लगती है।

वायरल वीडियो पर लोगों की प्रतिक्रियाएं : अंशुल सिंह नाम के एक टि्वटर हैंडल से इस वीडियो को शेयर कर लिखा गया – ये पत्रकारिता क्रम गुंडागर्दी ज्यादा है। अनुराग नाम के एक यूजर ने लिखा कि ये कौन सी पत्रकारिता है? कहां से आते हैं ऐसे लोग? कदंबिनी शर्मा ने कमेंट किया, ‘माइक थाम लेने से कोई पत्रकार नहीं हो जाता। उदाहरण।’ योगिता भयाना सवाल करती हैं कि क्या ऐसे भी पत्रकार होते हैं?

परिमल कुमार नाम के एक यूजर ने कमेंट किया कि हाथ में माइक है तो माने कुछ भी करेंगे? पूछेंगे… धमकाएंगे. छोटा बच्चा है.. किसी रसूख वाले से पूछ कर ऐसे दिखाइए। चयनिका उनियाल लिखती हैं – किसी पाश्चात्य देश में होता तो बच्चे को मानसिक प्रताड़ना के आरोप में अब तक जेल पहुंचा चुके होते भाई साहब। भगवान इनके घर के बच्चों की इनसे रक्षा करें। ज्योति मिश्रा नाम की एक यूजर कमेंट करती हैं कि बहुत ही बेहूदा और बदतमीज ये एक्सपोज मीडिया वाला.. पहले तो इसको स्कूल भेजा जाए और शिष्टाचार सिखाया जाए।

नितेश कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा कि शायद वायरल और एक्सपोज होने का तरीका हो। क्योंकि अगर इस व्यक्ति की मंशा सोनू को समझाने की होती तो शायद वो ऑन कैमरा या ऑफ कैमरा ऐसी हरकते नहीं करते। अवधेश प्रतीक नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘ यूट्यूब के जरिए पत्रकारिता के लिए अब कुछ नहीं नियमावली और बाधित किए जाने का समय है, वरना बाइक लेकर आज बच्चे पर हिंसक हो रहे हैं, कल को किसी की छाती पर चढ़ सकते हैं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.