ताज़ा खबर
 

स्‍मृति ईरानी ने चूड़ि‍यां भेजने को लेकर कप‍िल स‍िब्‍बल के सवाल का द‍िया जवाब

आज (15 मई, 2017) इंडिया टीवी के प्रोग्राम 'संवाद' में केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल पर जमकर निशाना साधा।

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (फोटो सोर्स पीटीआई)

आज (15 मई, 2017) इंडिया टीवी के प्रोग्राम ‘संवाद’ में केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल पर जमकर निशाना साधा। प्रोग्राम में बोलते हुए स्मृति ईरानी ने कहा, ‘कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल को मेरी चूड़ियों में बड़ा इंटरेस्ट नजर आ रहा है।’ दरअसल बीते दिनों पाकिस्तान सेना की तरफ से संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया था जिसमें जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में भारतीय सैनिकों के साथ बर्बरता की गई। इसपर पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए कहा था, ‘यूपीए सरकार में जब सैनिकों की साथ बर्बरता की जाती थी तब भाजपा की महिला सांसद ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चूड़ियां भेजने की बात कही थी।’ उस दौरान कपिल सिब्बल ने कहा कि इस वक्त वो महिला मोदी सरकार में केन्द्रीय मंत्री हैं। कपिल सिब्बल ने आगे कहा था कि उसी तरह की पाकिस्तान सैनिकों की कार्रवाई पर स्मृति ईरानी वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चूड़ियां भेजेंगी? बाद में कपिल सिब्बल के इस बयान के बाद से ही स्मृति ईरानी का वो वीडियो जिसमें वो पूर्व पीएम को चूड़ियां भेजने की बात करती थीं सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा। वीडियो साल 2009 का है।

बता दें कि इंडिया टीवी के प्रोग्रम में स्मृति ईरानी मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर बोल रही थी। तब कपिल सिब्बल के चूड़ियों वाले सवाल में पर ईरानी ने ये बात कहीं। प्रोग्राम में बोलते हुए केन्द्रीय मंत्री ने कहा तीन साल के मोदी सरकार के कार्यलय में किसी के साथ अन्याय नहीं किया गया। प्रोग्राम में बोलते हुए उन्होंने आगे कहा कि मोदी सरकार में कानून व्यवस्था के मामले में किसी भी तरह का राजनीतिकरण नहीं किया जाता। इस दौरान उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में इंसाफ के नाम पर सिर्फ लाठिया मिलती थीं। यूपीए सरकार में कौआ मोदी खाता था।

देखें वीडियो, स्मृति ईरानी की मार्कशीट नहीं होगी सार्वजनिक; दिल्ली हाई कोर्ट ने लगाई रोक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App