scorecardresearch

सिद्धू की पत्नी ने अमरिंदर की दोस्त पर लगाया पोस्टिंग में पैसे लेने का आरोप, परनीत कौर ने मोदी-शाह से लगाई गुहार

उधर कैप्टन की पत्नी परनीत कौर ने कहा कि पीएम मोदी और अमित शाह को सब कुछ पता है। उन्हें एक्शन लेना चाहिए।

सिद्धू की पत्नी ने अमरिंदर की दोस्त पर लगाया पोस्टिंग में पैसे लेने का आरोप, परनीत कौर ने मोदी-शाह से लगाई गुहार
पंजाब कांग्रेस में अमरिंदर बनाम नवजोत सिंह सिद्धू का खेल जारी । फाइल फोटो।

नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम के साथ दोस्ती को लेकर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में एक भी अधिकारी की तैनाती पत्रकार को पैसे, तोहफे दिए बिना नहीं हुई। उधर कैप्टन की पत्नी परनीत कौर ने कहा कि पीएम मोदी और अमित शाह को सब कुछ पता है। उन्हें एक्शन लेना चाहिए।

पूर्व विधायक नवजोत कौर सिद्धू ने अमृतसर में कहा कि पंजाब में एक भी पोस्टिंग अरूसा आलम को पैसे या तोहफे दिए बिना नहीं हुई। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस विभाग में भी कोई तैनाती आलम की सहमति के बिना नहीं हुई। पाकिस्तानी पत्रकार सारा धन लेकर चली अपने मुल्क चली गईं। उधर अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने शुक्रवार को पाक पत्रकार की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ तस्वीर ट्विटर पर साझा की। नवजोत कौर ने कहा कि यह पुरानी तस्वीर है।

सिद्धू की पत्नी के आरोपों से एक दिन पहले पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा था कि अरूषा मामले में जांच की जाएगी। इसका पता लगाया जाएगा कि कैप्टन की घनिष्ठ रहीं पत्रकार का क्या पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ कोई संबंध है। रंधावा के इस ऐलान से पंजाब की राजनीति में खलबली मच गई। कैप्टन अमरिंदर सिंह का खेमा जानता है कि अरूषा का मामला चुनाव में भारी पड़ सकता है। आज जब सिद्धू की पत्नी ने निशाना साधा तो पलटवार के लिए अमरिंदर की सांसद पत्नी ने मोर्चा संभाला।

उधर, नवजोत सिद्धू के सलाहकार मोहम्मद मुस्तफा ने भी अमरिंदर सिंह पर निशाना साधा, जिस पर पूर्व मुख्यमंत्री ने उन पर पलटवार किया। मुस्तफा ने आलम की पंजाब के पूर्व मुख्य सचिव और पूर्व पुलिस महानिदेशक की एक तस्वीर साझा की थी जिस पर अमरिंदर सिंह ने मुस्तफा को आड़े हाथ लिया। इसके जवाब में रवीन ठुकराल ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर दो तस्वीर साझा कीं।

गौरतलब है कि कैप्टन पंजाब में नई पार्टी लॉन्च करने की घोषणा कर चुके हैं। उन्होंने किसान आंदोलन के उचित निपटारे पर बीजेपी के साथ गठबंधन की बात कही है। उनका ये पैंतरा कांग्रेस को रास नहीं आया। इसी वजह से उन पर सीधा निशाना साधा गया। अरूषा कैप्टन की कमजोर कड़ी हैं, जिसके चलते उन्हें हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 23-10-2021 at 11:01:01 pm
अपडेट