scorecardresearch

आज के बाद आगे नया विहान नहीं- अखिलेश ने बुलाया राष्ट्रीय अधिवेशन तो चाचा शिवपाल ने यूं कसा तंज

अखिलेश यादव ने सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित किया तो शिवपाल यादव ने इशारों ही इशारों में तंज कसा है!

आज के बाद आगे नया विहान नहीं- अखिलेश ने बुलाया राष्ट्रीय अधिवेशन तो चाचा शिवपाल ने यूं कसा तंज
प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन लखनऊ में संपन्न हुआ। इस राष्ट्रीय अधिवेशन में मुलायम सिंह यादव और वरिष्ठ सपा नेता आजम खान शामिल नहीं हुए। इस अधिवेशन में एक बार फिर नरेश उत्तम पटेल को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष चुना गया जो 2017 के बाद से ही प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश यादव ने सभा को संबोधित किया।

अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय अधिवेशन को किया संबोधित

अखिलेश यादव ने कहा कि हमने पूरी ताकत से चुनाव लड़ा, लेकिन भाजपा ने मशीनरी का गलत इस्तेमाल करके जीत हासिल कर ली। अखिलेश यादव ने कहा कि इन नतीजों से भी यह पता चला है कि अकेले सपा में ही यह ताकत है कि वह भाजपा को चुनौती दे सकती है। किसी और दल में इतनी ताकत नहीं है। इधर अखिलेश यादव कार्यकर्ताओं में जोश भर रहे थे तो उधर चाचा शिवपाल इशारों ही इशारों में सपा पर तंज कसते नजर आए।

चाचा शिवपाल ने इशारों ही इशारों में कसा तंज

शिवपाल यादव ने ट्वीट कर लिखा कि पहले साल 2014, फिर साल 2017, फिर साल 2019 और इसके बाद साल 2022, अब आज के बाद आगे नया विहान नहीं, मार्ग अवसान की तरफ जाता दिख रहा है। सोशल मीडिया पर लोग शिवपाल यादव के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

लोगों की प्रतिक्रियाएं

@dheerajtripa यूजर ने लिखा कि आज जिसे फिर से प्रदेश अध्यक्ष बनाया है वह पिछले कई चुनाव से अपना बूथ हार रहे हैं। @KP25484670 यूजर ने लिखा कि चाचा जी, 2014 में प्रदेश अध्यक्ष पद पर आप थे तो मात्र 5 सांसद ही जीत पाए थे। अखिलेश ने नेतृत्व संभाल सपा को पूर्ण बहुमत मिला। इसके बाद 2022 विधानसभा में 111 सीट सपा पाई। अखिलेश जी को आपकी करनी का फल भोगने पड़ रहे है लेकिन पार्टी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन जरूर करेगी।

@BeeruYa57152294 यूजर ने लिखा कि चाचा जी, अब किसी पद के लालच में मत रहिए। अखिलेश भैया के साथ रहिए। समाजवादी पार्टी में रहिये। अब नौजवानों को मौका दीजिए। आप किसी के बहकावे में ना आएं। आप पार्टी की छबि बेकार मत कीजिये। @Pankaj_Etah यूजर ने लिखा कि दो आदमी को पार्टी के सारे पदों से हटा दिया जाए रामगोपाल ओर नरेश उत्तम पटेल को तो उसी दिन से पार्टी चुनाव जीतने की ओर बढ़ जाएगी।

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा ने गठबंधन कर चुनाव लड़ा था, लेकिन तब बीएसपी के खाते में 10 गईं और सपा को 5 सीटों पर जीत मिल सकी थी। इस चुनाव के बाद ही सपा-बसपा का गठबंधन टूट गया। 2022 विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने छोटी पार्टियां रालोद, सुभासपा, महान दल से गठबंधन किया था।इसके बाद सपा को बढ़त तो मिली लेकिन भाजपा फिर भी बहुमत हासिल करने में कामयाब रही। अब अखिलेश यादव का कहना है कि अगले चुनाव में सपा ही भाजपा को हटा सकती है।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 28-09-2022 at 08:19:32 pm
अपडेट