ताज़ा खबर
 

“पहले भतीजे को दूध का धुला दिखाया, अब चाचा को टिकट दे दिया, कोई यादवों को बताए कि पब्लिक सब जानती है”

पिछले छह महीनों से यादव परिवार में जारी घमासान के बाद अखिलेश द्वारा शिवपाल को टिकट दिए जाने पर विरोधी चुटकी ले रहे हैं।
प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव और शिवपाल यादव। (File Photo: PTI)

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सीएम अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी की पहली लिस्‍ट शुक्रवार (20 जनवरी) को जारी की। 191 उम्‍मीदवारों की लिस्‍ट में उनके चाचा शिवपाल यादव को भी जसवंतनगर से टिकट दिया गया है। अखिलेश ने बेनी प्रसाद वर्मा के बेटे की जगह अरविंद सिंह गोप को टिकट दिया है। हरदोई से नरेश अग्रवाल के बेटे नितिन अग्रवाल को टिकट दिया गया है। आजम खान के बेटे का भी टिकट पक्का हो गया है। वह रामपुर से चुनाव लड़ेंगे। इसके अलावा कानपुर कैंट से अतीक अहमद की जगह हसन रुमी को टिकट दिया गया है। सपा ने कहा है कि वह 300 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, बाकी सीटों का बंटवारा कांग्रेस के साथ बैठकर किया जाएगा। दोनों पार्टियों के गठबंधन में अभी तक पेंच फंसा हुआ है। पिछले छह महीनों से यादव परिवार में जारी घमासान के बाद अखिलेश द्वारा शिवपाल को टिकट दिए जाने पर विरोधी चुटकी ले रहे हैं।

भाजपा के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इस घटनाक्रम पर ट्वीट किया, ”पहले भतीजे अखिलेश यादव को दूध का धुला दिखाया, अब चाचा शिवपाल को भी टिकिट मिल गया।कोई सपा के यादवों को बताए #YePublicHai सब जानती है।” अन्‍य यूजर्स ने भी अखिलेश की लिस्‍ट में शिवपाल का नाम आने के बाद इस पूरे झगड़े को ‘ड्रामा’ करार दे दिया। शिवेश ने कहा, ”ये सब एक सोचा-समझा ड्रामा था, वोटर को बरगलाने के लिए।” विक्रमादित्‍य ने लिखा, ”देखा जाए तो मुलायम की सरपरस्‍ती में अखिलेश यादव, शिवपाल यादव और रामगोपाल यादव ने कमाल का शो किया है।” पल्‍लवी ने लिखा, ”छह महीने के दिखावटी ड्रामे के बाद एक हो गए चाचा-भतीजा”

देखें ट्विटर यूजर्स की प्रतिक्रियाएं:

यूपी में 11 फरवरी से पांच चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे। इस बार विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन के साथ चुनाव लड़ रही हैं। हालांकि, कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के गठबंधन की अभी आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। पार्टियों ने एक दूसरे को ऐसी सीटों की लिस्ट सौंपी है, जिस पर कोई समझौता नहीं हो सकता।

यादव परिवार में महीनों से पार्टी पर कब्‍जे की लड़ाई चल रही है। अखिलेश ने पार्टी की बैठक बुलाकर खुद को समाजवादी पार्टी का नया अध्‍यक्ष घोषित कर दिया। मुलायम सिंह को ‘मागदर्शक’ का पद देकर उन्‍हें संन्‍यास की तरफ ढकेल दिया गया।

चुनाव: सपा ने जारी की 191 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Bijay Kant Dubey
    Jan 21, 2017 at 5:59 pm
    ग्वालबालों का नाटक सभी जानतें हैं unpadh, गंवारों का पॉलिटिक्स, गाय दुहो और राजनीती करो.
    (0)(0)
    Reply