ताज़ा खबर
 

रघुराम राजन पर फेक न्‍यूज शेयर कर घिरे शशि थरूर, खूब हुई खिंचाई

राजन इस समय शिकागो विश्वविद्यालय के बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस में प्रोफेसर हैं। वह सिंतबर 2013 से लेकर सिंतबर 2016 तक आरबीआई के गवर्नर थे। वह आईएमएफ के पश्चिमी देशों से बाहर से आने वाले और सबसे कम उम्र के पहले मुख्य अर्थशास्त्री व अनुसंधान निदेशक रहे हैं।

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता शशि थरूर। (Photo: PTI)

वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर ट्विटर पर ‘फेक न्‍यूज’ के शिकार हो गए। उन्‍होंने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन को बैंक ऑफ इंग्‍लैंड का गवर्नर नियुक्‍त किए जाने की झूठी खबर शेयर करते हुए इसे ‘रिवर्स कॉलोनाइजेशन’ बताया। हालांकि जब लोगों ने गलती की तरफ ध्‍यान दिलाया तो उन्‍होंने गलती स्‍वीकारी। थरूर ने खबर शेयर करते समय लिखा था, ”एक भारतीय (नासिर हुसैन) इंग्‍लैंड की क्रिकेट टीम का नेतृत्‍व पहले ही कर चुके हैं। रिवर्स कॉलोनाइजेशन पूरा करने के लिए बस अब एक भारतीय का प्रधानमंत्री (ब्रिटेन का) बनना रह गया है।”

मोहम्‍मद अल्‍ताफ नाम के यूजर के ट्वीट का जवाब देते हुए शशि थरूर ने स्‍वीकार किया कि उन्‍हें और जांच-परखने के बाद कुछ भी शेयर करना चाहिए। अल्‍ताफ ने कहा था, ”नियुक्‍त‍ि के लिए विचार करने और नियुक्ति करने में बहुत फर्क होता है। आप जैसे लोगों को बिना तथ्‍य जांच फेक न्‍यूज का शिकार होते देखना दुख देता है। मुझे उम्‍मीद है कि आप ‘सियासत’ से बेहतर सूचना का जरिया ढूंढ सकते हैं।” इसके जवाब में थरूर ने कहा, ”आप सही कह रहे हैं। मेरे बारे में जितनी फेक न्‍यूज है, उसे ध्‍यान में रखते हुए मुझे बेहतर जानकारी हासिल करनी चाहिए थी।”

राजन इस समय शिकागो विश्वविद्यालय के बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस में प्रोफेसर हैं। वह सिंतबर 2013 से लेकर सिंतबर 2016 तक आरबीआई के गवर्नर थे। वह आईएमएफ के पश्चिमी देशों से बाहर से आने वाले और सबसे कम उम्र के पहले मुख्य अर्थशास्त्री व अनुसंधान निदेशक रहे हैं। राजन बैंक ऑफ इंटरनेशनल सेटलमेंट्स के वाइस चेयरमैन के तौर पर भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App